अनुलोम विलोम कैसे करे और इसके फायदे क्या-क्या है ?

अनुलोम विलोम कैसे करे और इसके फायदे क्या-क्या है ? anulomvilom kaise kare, anulomvilom karne ke fayde or nuksan.

अनुलोम विलोम कैसे करते है और इसके क्या फायदे हैं ?

  • अंगूठे (thumb) के साथ अपने दाहिने नासिका पकड़िये और बाई नासिका से साँस लीजिए.
  • अब अनामिका अंगुली (forefinger) से बाई नासिका को बंद करो और दाहिनी नासिका खोलिए और साँस बहार छोड़िये.
  • अब दाहिने नासिका से ही साँस लीजिए.
  • फिर बाई नासिका खोलिए और साँस बहार छोड़िये.
  • जिस नासिका से साँस बहार छोड़ते हैं उसीसे साँस अन्दर लेना है.

अनुलोम विलोम कैसे करे और इसके फायदे क्या-क्या है ?

अनुलोम विलोम करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए..?

High ब्लूग pressure के patient को साँस थामे रखने से बचना चाहिए. अगर आप पहली बार ऐसा कर रहे हैं तो ये आराम से और थोड़ा किया जाना चाहिए.

अनुलोम विलोम करने के फायदे क्या है ?

  • आँखों की रौशनी बढ़ने में मदद मिलती है और blood circulation सही रहता है.
  • Blood circulation में सुधार में मदद करता है.
  • तनाव हटाकर शांति प्रदान करने वाले इस प्राणायाम से सभी प्रकार की नाड़ियों को भी स्वास्थ्य लाभ मिलता है.
  • इसके regular अभ्यास से फेफड़े और ह्रदय (heart) भी स्वास्थ्य बने रहते हैं.
  • ये शारीर को ज्यादा उर्जा और oxygen देती है.
  • Heart problem , high blood pressure , migraine , asthma, आदि अनुलोम विलोम से ठीक किया जा सकता है.
  • यह concentration और विचारों को उच्च स्तर को पाने में मन को प्रोत्साहित करता है.
  • अनिद्रा रोग में ये लाभदायक है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.