Adsense approval process 2017

Adsense approval process 2016

दोस्तों आज हम आपको adsense से जुड़े सारे सवाल और उसके जवाब आपके सामने लाए है , हर website owner की तम्मना होती है कि उसके website पर google adsense का ads हो . पर ये मंजिल जितनी मुश्किल लगती है उतनी है नहीं , तो आइए जानते है adsense से जुड़े कुछ बातें और कैसे website को adsense friendy बनाए ?

 

Adsense क्या करता है और कैसे काम करता है  ?

Adsense google का एक advertising program है जो 18 june 2003 में launch हुआ . Adsense उन publisher को एक platform देता है जो अपने website पर adsense द्वारा दिए गए ads को publish करते हैं . यदि कोई व्यक्ति इस ads को click करता है या देखता है तो publisher को इसके पैसे मिलते हैं .

 

Publisher मतलब क्या होता है ?

Publisher मतलब जो व्यक्ति अपने website पर google adsense का ads publish करे .

 

Adsense में कैसे account बनाए ?

adsense में account बनने के लिए gmail account होना बेहद जरुरी है , आप अपने gmail id और password के साथ adsense में login कर सकते हैं .

 

Adsense सबसे बेहतर क्यों है ?

ये दुनिका का no-1 advertising program है क्योंकि adsense जितना आपको pay करता है उतना कोई भी नहीं करत , और हमेसा सही सबे पर आपको payment मिलेगा .

 

Adsense के लिए apply करने से पहले किन बातों का रखें ख्याल ?

  1. खुद का website होना जरुरी है .
  2. website में जो भी contain हो वो बिलकुल unique होने चाहियें .
  3. Website का designe भी बहुत अच्छा होना चाहिए .
  4. आप जो website जो contain डाले उससे related ही आपका domain name होना चाहिए .
  5. अगर आप blogger में अपना blog बनाए हो तो 6 महीने के बाद ही adsense के लिए apply करें .
तो आइए जानते है
खुद का वेबसाइट जरुरी है – आप adsense के लिए apply करने से पहले खुद का website या blog जरुर बनाएं . अगर आप किसी website या blog के owner नहीं है तो आप adsense के लिए apply नहीं कर सकते .

हमेसा unique और quality contain ही publish करें .

अगर आपके website पे जो भी है वो दुसरे website पर भी available है  , कहने का मतलब ये है कि जो भी आप article लिखो वो खुद का ही हो न की किसी ओर website से copy किया हुआ . ऐसा करने से आप adsense के लिए तो apply कर सकते है पर आपका application या तो reject हो जायेगा या फिर banned . ऐसा करने से बचें , हमेसा unique post ही डाले .

Website का design भी अच्छी होनी चाहिए

अगर कोई visitor आपके website को visit करता है , और आपका website का look ठीक नहीं , तो क्या वो visitor दुबारा आपके website पर आयेगा …… जी नहीं , website का desgine ऐसा हो कि visitor को लुभाए … इसके लिए आप एक अच्छा सा tamplate डालें , website का brightness पर भी ध्यान दे . आपका website आँखों को चुभना नहीं चाहिए . website का page navigation भी अच्छा होना चाहिए .

आप जो website जो contain डाले उससे related ही आपका domain name होना चाहिए .

मान लो आपने educational website बनाया है पर आपने domain नाम में fashonworld लिखा है , जो की को आपने content से बिलकुल मिलता जुलता नहीं है . website का नाम की उसकी पहचान है , जो नाम वैसा काम .

अगर आप blogger में अपना blog बनाए हो तो 6 महीने के बाद ही adsense के लिए apply करें .

अगर आपने अभी अभी अपना वेबसाइट बनाया है तो आप 6 महीने बाद ही adsense के लिए apply कर सकते है . मतलब आपके पास 6 महीने का समय है अपने website के content को बढ़ाने के लिए .
  • धन्यवाद आप सभी का जिन्होंने acchibaat.com को इतना प्यार दिया. आशा करती हूँ कि यूँ ही आपका प्यार हमेसा बना रहे. अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई तो comment करना न भूलें, आपका साथ ही हमारे प्रेरणा का श्रोत है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*