बवासीर का घरेलु इलाज – Piles का घरेलु इलाज

By | November 6, 2017

बवासीर या piles से जयादातर लोग परेशान रहते है. इस बीमारी के होने का main reason अनियमित दिनचर्या और हमारा खान-पान है. बवासीर में होने वाला दर्द असहनी होता है. बवासीर मलाशय के आस पास की नासो की सूजन के कारण होता है. इस article में हम जानेगे बवासीर के मस्से का घरेलु इलाज. बवासीर दो तरह की होती है. अंदर की और बहार की. अंदर की बवासीर में मस्से अंदर को होते है.

अंदरूनी बवासीर में नासो की सूजन दिखती नहीं पर महसूस होती है जबकि बाहरी बवासीर में यह सूजन गुदा के बिलकुल बहार दिखती है. बवासीर होने का सब से बड़ा reason कब्ज़ (constipation) होना है. Toilet करते time जोर लगाने से अंदर के मस्से बाहर आ जाते है जिससे मरीज को बहुत तेज दर्द होता है और अगर मस्से छिल जाये तो जख्म हो जाता है. बहार की बवासीर में मस्से गुड्डा वाली जगह पर होते है और इसमें दर्द नहीं होता. कभी कभी हलकी खारिश या खुजली होती है. कब्ज़ होने पर इन मस्सो से इतना खून आने लगता है की मरीज खून देख कर घबरा जाता है.

Allopathy के उपचार में बवासीर का इलाज सिर्फ operation है जो एक महंगा और बहुत तकलीफ देने वाला उपाय है. और हमने ये भी देखा है कि operation करवाने के बाद ज्यादातर लोगो को बवासीर की शिकायत दुबारा भी हो जाती है. आयुर्वेदिक औषधीय को अपना कर हम बवासीर से छुटकारा पा सकते है.

बवासीर के लक्षण – Symptom of piles

बवासीर को पहचानना बहुत ही easy है. Toilet के समय मलाशय में अत्यधिक पीड़ा और इसके बाद bleeding होना. खुजली इसका लक्षण है. इसके कारण गुदा में सूजन हो जाती है. बवासीर के मरीज का हाजमा खराब हो जाता है. भूख नहीं लगती और कब्ज़ रहने लगती है. पेट में अक्सर शारीरिक कमजोरी आ जाती है और मरीज के चेहरे पर हलकी सूजन आने लगती है.

बवासीर का घरेलु इलाज – Piles का घरेलु इलाज Bawasir ka gharelu ilaj Piles ka gharelu ilaj

Daily व्यायाम(exercise) करे.

फलों का fresh juice और सब्जियों का soup नियमित पिए.

हर रोज 8 से 10 glass पानी जरूर पिए और खाना समय से खाये.

खुनी बवासीर में निम्बू बीच में से काट कर उस में लगभग 4 से 5 gram कत्था पीस कर डाल दे. इन दोनों टुकड़ो को रात में छत पर खुला रख दे. सुबह उठ कर दोनों टुकड़ो को चूस ले. सुबह खाली पेट हर रोज 15 minute तक सेवन करे. उड़द की दाल मांस- मछली का परहेज करे. इस प्रयोग को 5 दिन तक करे. बवासीर में फायदा होगा.

खुनी बवासीर में खून को रोकने के लिए 10 से 12 gram धुले हुए काले तिल को ताजा मक्खन के साथ ले. इसे लेने से भी बवासीर में खून आना बंद हो जाता है.

पके हुए केले को 2 टुकड़ो में काट कर उस पर कत्था पीस कर छिड़क दे. इन टुकड़ों को रात में खुले आसमान में रख दे. सुबह उठ कर केले के टुकड़ो को खाये. इस प्रयोग को एक हफ्ते तक कीजिये बवासीर ठीक हो जाएगी.

लगभग 50 gram बड़ी इलायची को तवे पर रख कर भुनाते हुए जला लीजिये. ठंडी होने के बाद इस इलायची को पीस लीजिये. Daily इस चूरन को पानी के साथ खाली पेट लेने से बवासीर ठीक जाती है.

रेशेदार चीजे खाना शुरू करे इन्हे अपने भोजन का एक आवश्यक हिस्सा बना लीजिये. निम्बू सेब संतरा और दही का सेवन करे.

50 gram रीठे ले कर तावे पर रख कर कटोरी से ढक दे और तावे के नीचे आधे घंटे तक आग जलाये. रीठे भसम हो जाएँगी. ठंडा होने पर कटोरी हटा कर बारीक़ पीस ले फिर उसमे से 20 gram भस्म ले, 20 gram सफ़ेद कथा, 3 gram कुष्ट फौलाद ले और इन सब को मिला कर बारीकी पीस ले. अब 1-1 gram का मिश्रण 20 gram मक्खन में रख कर खाये और साथ में 250 gram दूध लें. ये उपाय 10 से 15 दिन करे. \

खुनी बवासीर को दूर करने का ये सब से बढ़िया उपाय है.एक चमच शहद में एक चौथाई चम्मच दालचीनी का powder मिला कर खाने से बवासीर में फायदा मिलता है.

बवासीर में परहेज

  • गुड़, आम अंगूर न खाये.
  • कब्ज़ न होने दे.
  • उड़द की दाल, मांस- मछली का परहेज करे.
  • अगर आप को बवासीर है तो आप खट्टे मिर्ची वाले मसालेदार और चटपटे खाने से कुछ दिनों के लिए परहेज करना होगा.
  • जब तक आप की बवासीर पूरी तरह से ख़त्म नहीं हो जाये शराब न पिए और tea-coffee का भी काम से काम सेवन करे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *