आंवला खाने से क्या होता है ? – Benefits Of Gooseberry In Hindi

आंवला एक रसायन द्रव्य है. यह पेट, heart और brain के disorders को हटाकर उन्हें healthy और efficient बनाता है. Blood vessel में collected मालों को काटकर निकलता है. उनकी hardness को हटाकर soft और flexible बनाता है. उनमें blood clot बन जाने की tendency खत्म हो जाती है. इससे heart का अवरोध होने की possibility नहीं रहती या बहुत कम हो जाती है.

आंवला खाने से क्या होता है ? – Benefits Of Gooseberry In Hindi

1. सूखे आंवले का powder 5 gram दिन में एक बार सुबह हल्के आहार से एक घंटा पहले ताजे पानी के साथ सेवन करें. इससे physical health बिलकुल सहि रहता है.

2. आंवला urine की जलन में भी लाभ करता है. आंवले का 30 gram रस लेकर उसमें 10 gram honey मिलाकर daily सुबह-शाम सेवन करने से पेशाब की जलन ख़त्म होती है.

3. अधिक प्यास लगने की situation में सूखे आंवले को किसी तांबे या कांच के बर्तन में पानी में डालकर रखें. 4-6 घंटे बाद आंवले को थोड़ा सा मसलकर पानी को छानकर पिने से तृष्णा की विक्रति खत्म होती है. गर्मी के मौसम में इस पानी के पिने से बहुत लाभ होता है.

4. आंवले के 10 gram रस में 3 gram हल्दी का powder और 5 gram honey मिलाकर daily सेवन करने से सभी तरह के प्रमेह रोग (Gonorrhea diesease) खत्म होते हैं.

5. महिलाओं में बहुमूत्र (ज्यादा पेशाब आना) की disorder हो तो वे आंवले के 20 gram रस में एक केला मसलकर उसमें चीनी या मिश्री मिलाकर कुछ दिनों तक daily सेवन करें. इससे स्त्रियों में बहुमूत्र की विकृति नष्ट होती है.

6. आंवले के पत्तों और मेथी के दानों का चाय बनाकर पिने से diarrhea खत्म होता है.

7. Asthma में 30 gram आंवला और 5 gram काली मिर्च पीसकर घी मिलाकर चाटने से बहुत लाभ होता है. श्वास का प्रकोप भी शांत होता है.

8. ताजे पके हुए आंवले का 30 gram रस निकालकर daily पिने से शरीर की गर्मी, पित्त की विक्रति और रक्त दोष नष्ट होने के साथ पाचन क्रिया तीव्र होती है. कब्ज भी दूर होता है. त्वचा में निखर भी आता है. बाल घने, लंबे और काले होते हैं. शक्ति और उत्साह का विकास होता है. नेत्र ज्योति तीव्र होती है.

9. आंवले का 10 gram रस या powder हररोज मधु मिलकर सेवन करने से स्त्रियों के प्रदर रोग में बहत लाभ होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *