क्या मैं मर गया हूँ ? – Am I dead ? in Hindi

क्या मैं मर गया हूँ ? – Am I dead ? in Hindi आज सुबह-सुबह , news paper मे sad news के column में , अपनी photo को देखँ हैरान था , आश्चर्य , क्या मैं मर गया हूँ ? या किसी मसखरे का शिकार हो गया हूँ. रूको, थोड़ा सोचता हू. पिछली रात ही

Apna Kaam Khud Karo, Motivational Story

Apna Kaam Khud Karo, Motivational Story

कल दिल्ली से गोवा की उड़ान में एक सरदारजी मिले। साथ में उनकी पत्नि भी थीं। सरदारजी की उम्र करीब 80 साल रही होगी। मैंने पूछा नहीं लेकिन सरदारनी भी 75 पार ही रही होंगी। उम्र के सहज प्रभाव को छोड़ दें, तो दोनों करीब करीब फिट थे। सरदारनी खिड़की की ओर बैठी थीं, सरदारजी बीच

चतुराई से जान बची – Panchtantra Ki Kahani

चतुराई से जान बची - Panchtantra Ki Kahani

दोस्तों क्या आप जानते है कि अपने सूझ-बुझ से हम बड़ी से बड़ी कठिनाइयों का सामना बड़े ही आसानी से कर सकते है , पर जब कठिनाई आये तो हमें डरना नहीं चाहिए . डर हमारे सोचने की शक्ति को कम कर देता है जिसकी वजह से अनुकूल परिस्थितियों में हम घबरा जाते हैं. बस

माँ का प्यार – शिक्षाप्रद कहानी

सच्ची माँ - शिक्षाप्रद कहानी

दोस्तों दुनिया में कहीं सच्चा प्यार है तो वो माँ का ही है. माँ के जितना हमे ओर कोई प्यार नहीं करा सकता. माँ शब्द बोलने से ही सारे दुःख दूर हो जाते हैं. वैसे तो बच्चों की ख़ुशी में ही माँ अपनी खुशी तलाश करती है , दुनिया में सायद ही कोई ऐसी माँ

सफर का साथी – Panchtantra Ki Kahani

सफर का साथी - Panchtantra Ki Kahani

वैसे तो कही भी जाओ तो किसी के साथ जाओ .. ये बात हमारे बुजुर्गों ने कही है. कहीं आपको दूर जाना है तो अपने साथ अपने किसी साथी को ले जाना उचित मान गया है, क्युकी सफर कोई परेशानी आये तो आपका साथी आपकी मदद कर सके. इसी बात को सही ढंग से समझाने

एक लोटा दूध – Motivational Story IN HINDI

एक लोटा दूध - Motivational Story

बहुत समय पहले की बात है काफी दिनों से बारिस न होने की वजह से एक गांव में सुखा पड़ गया. हर तरफ हाहाकार मच गया. पानी की कमी के कारण अब लोग मरने लगे थे. गांव में सिर्फ एक ही आचार्य थे जो सिर्फ पढ़े-लिखे थे. लोगों ने उनसे इस समस्या के समाधान के

कामयाब बनना है तो पहले बेहरे बनो

कामयाब बनना है तो पहले बेहरे बनो

कामयाब बनना है तो पहले बेहरे बनो ये बात कुछ अटपटी सी लगती होगी कि कामयाब बनना है तो पहले बेहरे बनो , मतलब सुनो नहीं … जी हाँ जब हम किसी positive advice को सुनते हैं तो हम motivate होते है but जब हम किसी negative advice को सुनते है तो हम demotivate होते

दुश्मन से मित्रता न करें – Do not be friend with enemy Hindi Story

दुश्मन से मित्रता न करें - Do not be friend with enemy

प्राचीनकाल की बात है. एक विशाल जंगल में एक कौआ और हिरन रहते थे. दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त थे. कौआ जिस घने पेड़ पर रहता था, उसी पेड़ के एक कोटर में हिरन ने अपना घर बना रखा था. कभी-कभी हिरन अकेले ही घास आदि चरने बहुत दूर निकाल जाता था. कौआ उसे समझाता

सोने के हंस – Panchtantr Ki Kahani

सोने के हंस

चन्दन नगर में कभी चित्रदत्त नाम का राजा राज्य करता था , उसके यहाँ एक तलब पर हर समय राजा के सिपाही पहरा देते थे . बात यह थी कि उस तलब में बहुत से सोने के हंस रहते थे . हर छठे महीने ये राजा को अपना एक-एक पंख दिया करते थे .  

वफादार बाज – Panchtantr Ki Kahani

वफादार बाज

रजा जयचन्द्र को शिकार का बहुत शौक था . उन्होंने शिकार में दिशा ज्ञान के लिए एक बाज पक्षी पाल रखा था . बाज राजा का बहुत ही विश्वासपात्र था . वह जहाँ भी शिकार को जाते , बाज को साथ ले जाते थे .   एक दिन रजा शिकार करने गए हुए थे .