दहेज़ : रीती-रिवाज से घिरे समस्या – Dowry : uncool surrounded by customs problem in HINDI

दहेज़ : रीती-रिवाज से घिरे समस्या – Dowry : uncool surrounded by customs problem in HINDI
दहेज़ शादी के रीती-रिवाजों से जुड़ी एक प्रथा है . कानून के तहत दहेज़ देने और लेने दोनों पर पाबंदी है . यह dowry prohibited act 1961 का कानून है . इस act के बावजूद रीती-रिवाज की आड़ में दहेज़ को लेकर महिलाओं पर कोई अत्याचार होते हैं . दहेज़ का मसला समय के साथ बढ़ता ही गया है .

समाज में अधिक पढ़े-लिखे लड़के का ‘ दहेज़ दाम ‘ भी अधिक होता है . लड़की के माँ-बाप बेटी की ख़ुशी और सुख के लिए अपनी हेसियत से बढ़कर दहेज़ देने की कोशिश करते है . कर्ज में डूब कर भी वे इस मांग को पूरा करते है .

क्या आप जानते हैं कि हेसियत से अधिक दहेज़ देना भी गैर-क़ानूनी है ?

दहेज़ का लालच कई मामलों में पति और उसके घरवालों को अँधा बना देता है . शादी से लेकर शादी के बाद तक लड़की पर कई तरह के जुल्म होते है . यहाँ तक कि बहु को जला कर मार डालने के किस्से भी देखने-सुनने को मिलते है . कई बार लड़की को इतना सताया जाता है कि वह आत्महत्या करने पर मजबूर हो जाती है .

दहेज़-निषेध कानून क्या कहता है ?

  • दहेज़ मांगना , देना-लेना , उसमें मदद करना कानूनन जुर्म है .
  • इसकी आड़ में बहू पर किया गया हर जुल्म घोर अपराध है .
  • इन अपराधों की शिकायत होने पर सख्त क़ानूनी छानबीन होती है .
  • इन अपराधों के लिए कड़ी से कड़ी सजा का नियम है . इसमें कई सालों की कैद और जुर्माना हो सकता है .

याद रहे

कानून का यह नियम बहुत कम लोगों को मालूम है कि दहेज़ में दी गई हर एक वस्तु पर लड़की का अधिकार होता है . ससुराल वाले इसे अपने अधिकार ने नहीं रख सकते . बहू अपनी मर्जी से जिसे चाहे उसे दे सकती है .

शादी में दिए गए उपहार

परिवार वालों के लिए शादी एक ख़ुशी का मौका होता है . दोस्त और मित्रों के लिए यह ख़ुशी मनाने का मौका है . दूल्हा-दुल्हन को हर तरफ से उपहार मिलते है . ये उपहार ‘ दहेज़ ‘ में नहीं गिने जाते . उपहारों के लिए भी कुछ नियम बनाए गए हैं . इन्हें जानना जरुरी है .

दुल्हन और दुल्हे को अलग-अलग उपहार मिलते हैं और साथ भी .  कानून का नियम कहता है कि शादी के समय इन उपहारों की list बनाई जाए . इस list पर वर-वधु दोनों के signature ले लिए जाएँ .
इन उपहारों पर वर-वधु का बराबर हक है .

दहेज़ से जुड़े अपराध और सजा कानून

दहेज़ के अपराधों के संबंध में निचे लिखे गए तीन कानून/नियम है –

  • IPC rule 1860 – इस नियम से हमें दहेज़ से जुड़े दंडनीय अपराधों के बारे में जानकारी मिलती है .
  • Indian witness act 1872 – यह कानून हमें कई अहम जानकर देता है . अपराध को साबित करने के लिए जिन बातों का ध्यान रखना होगा उससे जुडी जानकारी हमें मिलती है . इस नियम में सबूतों और गवाही के बारे में जानकारी दी गई है .
  • सजा की कार्यवाही का नियम 1973 – इस नियम से हमें क़ानूनी कार्यवाही और सजा के नियमों के बारे में जानकारी मिलती है .

इस article को पूरा पढ़ने के लिये Next Page पर जाये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.