फूलों में सुगंध और रंग कहां से आते हैं ? – From where flower fragrance and color come from ? in Hindi

फूलों में सुगंध उनमे पाये जाने वाले भिन्न-भिन्न तेलों के कारण होती है . ये तेल पुलों की फंखुड़ीयों में पाये जाते हैं . ये फंखुड़ीयों में पौधे के बढ़ने की क्रिया में ही उत्पादित होते हैं . ये आवश्यक तेल मिश्रित तत्व होते हैं . किसी विशेष कारणवश अथवा वातावरण में ये तेल खंडित होकर , उड़ने वाले तेल का रूप ले लेते हैं . उड़कर ये हवा में मिल जाते हैं . इन्ही तेलों की भिन्न-भिन्न गंध हम फूलों की सुगंध में सूंघते हैं . सुगंध की मित्रता तेलों की अलग-अलग बनावट पर निर्भर है . सुगंध फुल के अतिरिक्त पौधों के पत्तों , छाल , जड़ , फल तथा बीज में भी होती है . उदाहरण के लिए संतरे तथा निम्बू के फल में , बादाम के बीज में , दाल-चीनी की छाल में , तथा गाजर की जड़ में सुगंध पाई जाती है .

फूलों को लाल , जमुनी , नीला तथा बेगानी एक विशेष रंगद्रव्य ynthrosaynik द्वारा प्राप्त होता है . ये रंगद्रव्य फूलों के अणुओं में घुला होता है . दुसरे रंग जैसे पिला , नारंगी तथा हरा इत्यादि दुसरे प्रकार के रंगद्रव्य carotin द्वारा फूलों में मिलता है . इस प्रकार फूलों को रंग दो प्रकार के रंगद्रव्य द्वारा मिलते हैं .

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *