क्या आपका बच्चा बुरा है ? Parenting Tips In Hindi

क्या आपका बच्चा बुरा है ? Parenting Tips In Hindi, kya aapka baccha bura hai?, kaise apne bacche ko sudhare?

क्या इस लेख को पढ़ने वाले कोई ऐसी माँ भी है , जिसे शुरुवात से ही बुरा बच्चा मिला था ? फिर क्यों आज बहुत से पेरेंट्स अपने बच्चों से परेशान है , ख़ासतौर पर उनके मुहफट , बेअदब ओर बदतमीज़ी तक हो जाने के कारण ?

8-9 साल ओर उससे भी बड़ी उम्र के बच्चे अपने बड़ो से बेअदबी करते नज़र आते है . यह एक व्यापक और गंभीर समस्या है , जिसके कारण जानना हर पेरेंट्स के लिए ज़रूरी है .

  • तुकमिज़ाज , मुहफट ओर एक हद तक बदतमीज़ हो चुके बच्चों की मुख्यत दो श्रेणियाँ है – पहले वे जिसके हर ख्वाहिश पूरी की जाती है , ओर दूसरे वे जिनके पालन-पोषण बेहद कड़ाई ओर टोका-ताकि के बीच हुआ है . दोनो ही स्तिथियाँ ग़लत है . आज कल बहुत से शहरी परिवारों के माता-पिता , दोनों working होते है , जिसके चलते वे बच्चों को प्रयाप्त समय नही दे पाते . इसकी पूर्ति वे उसकी हर माँग पूरी करके करना चाहते है या फिर थोड़े से समय में ही उस पर सारा ज्ञान , नसीहते ओर हिदायतें उदेलकर उसे ‘ पुरिपूर्ण ‘ बना देना चाहते है . पहला तरीका बच्चे को जिद्दी वा असंवेदनशील बनता है , तो दूसरा विरोधी . वजहें ओर भी है . बच्चा बिगड़ता है , तो इसकी जड़ें काफ़ी हद तक पेरेंट्स के व्यवहार ओर परवरिश के तरीके में होती है .
  • आजकल बहुत सारे युवा दंपति अपने बच्चों को हिदायते देते है की पीटकर मत आना . उन्हे लगता है की इससे वे बच्चों को मजबूत बना रहे है . जमाना बदलने के साथ यह बदलाव भी आया है की पहले के सदगुण अब कमज़ोरी में बदल गये है . एक महिला बड़ी चिंतित थी की उसका बच्चा बड़ा सीधा-सदा ओर अच्छा है …. पता नही , बड़ा होकर कैसे चल पाएगा . जब आप बच्चों को अक्खड़ता शिकते है , उसे बार-बार बताते है की जितना ज़रूरी है , चाहे कैसे भी , तो फिर वह उम्मीद कैसे कर लेते है की वह आपकी ‘ सिख ‘ पर घर के भीतर नही चलेगा ?
  • अपने बच्चों की बदतमीज़ी से परेशान युवा पीढ़ी का व्यवहार अपने से वृद्ध माता-पिता के प्रति कैसा है , यह भी देखे जाने की ज़रूरत है . पति-पत्नी आपस मे कैसा व्यवहार करते है , एक-दूसरे को किस भाषा और कितनी उँची आवाज़ मे जवाब देते है , इस बारे मे भी सोचना चाहिए . बच्चा जो देखता है , वही तो सीखता है .
  • मीडीया से भी बच्चों का व्यवहार बिगड़ता है . हालाँकि इसके लिए भी एक हद तक पेरेंट्स ही ज़िम्मेदार है . बच्चा कैसी फ़िल्मे , धरावाहिक ओर कार्टून देखता है , यह एक उम्र तक माँ-बाप के नियंत्रण मे होता है . लेकिन वे ही उसे अपने साथ अपराध स्टोरी वाला कार्यक्रम ओर फ़िल्मे दिखाते है . उसे स्मर्टफ़ोने ओर टॅबलेट/कंप्यूटर पर हिंसक game डाउनलोड करने देते है . और बाद मे सिर धुनते है की बच्चें की भाषा कैसे बिगड़ गई .
  • इस मामले में एक बाहरी कारण है – बुरी संगत ओर दोस्तो का दबाव . मित्रो के उकसाए जाने और मज़ाक उड़ाए जाने पर पर भी बच्चा अपनी माँगे मनवाने के लिए किसी भी तरह की भाषा बोल सकता है . जैसे – आपने मुझ पर कोई एहसान नही किया है , यह मेरी जिंदगी है या मुझे यह चाहिए तो बस चाहिए .

 

सबकुछ परवरिश पर निर्भर

जो बच्चें अभी छोटे है , उनकी परवरिश को लेकर जागरूक रहना होगा , ताकि आगे चलकर उनके बिगड़ने के आसार कम हो .
  • कभी ना कहे की तुम बुरे बच्चे हो . इसके बजाए बताए की तुम तो अच्छे बच्चे हो , बस तुम्हारा यह व्यवहार अच्छा नही है . इससे वह उसे सुधारने के लिए प्रेरित होगा .
  • बच्चे की अच्छी बातों पर ज़्यादा ध्यान दे . ग़लतियो को पूरी तरह अनदेखा ना करें , पर तारीफ के रूप मे फीडबैक अच्छाइयों पर दे . पिता काम से वापस आए तो उन्हे पहले बच्चों की अच्छी बात के बारे में बताएँ , फिर ग़लतियों के बारे मे .
  • माता-पिता बच्चे के साथ गुणवत्तापूर्वक समय बिताएँ ओर ऐसे समय मे उसे चीज़े या सिख देते रहने से बचें .
  • बच्चे को चीज़े भी दिलाएँ , उसकी माँगे भी पूरी करें , पर उसे यह एहसास भी दिलाते रहें की उसकी हर इच्छा पूरी नही हो सकती .
  • उसके खिलोने और वह टीवी , कंप्यूटर पर क्या देख रहा है , उसके असर को लेकर जागरूक रहें . उसे पुष्तक पढ़ना , खेलना , गाना-बजाना , डॅन्स जैसे के भी मौके दे .
  • यह ध्यान रखें की यदि बच्चे को किसी बात के लिए माना किया जाए , तो घर के सारे सदस्य उस निर्णय पर एकजुट रहें . यह नही की पापा ने माना किया , तो दादा-दादी पुचकारने लगे .
  • बच्चे को विनम्रता सिखाएं . इसके लिए धन्यवाद , सॉरी , प्लीज़ जैसे मैजिक वर्ड्स का इस्तेमाल पेरेंट्स खुद भी करें .

Mujhe Girlfriends Chahiye

Mujhe Boyfriend Chahiye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.