खुद पर भरोसा रखें – Trust in yourself Self Improvement Tips In Hindi

खुद पर भरोसा रखें – Trust in yourself Self Improvement Tips In Hindi, kaise bharosa kare, khud par kaise bharosa kare ?

  • क्या आपके अन्दर अचानक निराशा जन्म लेने लगी है ?
  • आपका आत्मविश्वास कम होता जा रहा है ?
  • आपको मन चाही सफलता नहीं मिल प् रही है ?
  • क्या आप अपने आपको looser मानने लगे है ?

अगर ऐसा है तो आप Self-Esteem के शिकार हो रहे है . यह एक मानसिक बीमारी है . यह धीरे-धीरे आपके अन्दर आत्मविश्वास डिगाकर आपके अन्दर Inferiority Complex पैदा कर सकती है . इसलिए समय रहते इस State Of Mind से निकालने की कोशिश करें . यकीन मानें , आप चाहेंगे तो इससे जरुर निकल जायेंगे .

खुद पर भरोसा रखें – Trust in yourself Self Improvement Tips In Hindi

इंसान की सेहत उसकी सबसे बड़ी दौलत है

संतोष उसका सबसे बड़ा खजाना है और आत्मविश्वास उसका सबसे अच्छा दोस्त है . लिहाजा , इन तीनों को कभी अपने से दूर मत होने दीजिए . बस शांत मन से कोशिश जरी रखिए . इतना ही नहीं , आप अपनी अब तक की गई तमाम कोशोशों का मूल्यांकन भी करिए और यह पता लगाइए कि किन-किन वजहों से आप आशातीत सफलता हासिल करने से वंचित रह गए . एक बात शत-प्रतिशत सच है कि कहीं न कहीं आपसे चुक हुई है.

इसलिए आप अपने समकालीन लोगों से पिछाड़ गए . उस चुक को स्वीकार करके उसे दूर कीजिए . हर भूल को स्वीकार करके उसे दूर कीजिए . हर भूल को सुधरने की कोशिश कीजिए . भूल को source of inspiration बनाइए न की बाधा . यकीन मानिए , अगर आप अपना आत्मविश्वास नहीं खोएंगे तो सफलता आपके कदम चूमेगी .

यह सर्वविदित ( generally known ) हो चुके है कि असफलता एक गंभीर बीमारी की तरह है .

इस बीमारी से जो भी एक बार ग्रसित हुआ , वह जल्दी उबार नहीं पता . इसलिए पूर्व राष्ट्पति APJ ABDUL KALAM भी असफलता को एक बीमारी मानते थे और कहा करते थे कि आत्मविश्वास और कठिन परिश्रम असफलता रूपी इस बीमारी को मरने के लिए सर्वोतम औषधि है . उनके कहने का मतलब है कि अगर आपको अपने ऊपर भरोसा है , यानि आप्प आत्मविश्वास से भरे है , तो आप कठिन परिश्रम करने से बिलकुल पीछे नहीं हटेंगे . जब आप कठिन परिश्रम करेंगे , तो जाहिर है आप सफल होंगे .

कह सकते है कि आत्मविश्वास (self-confidence) जीवन का आधार है .

अगर इसमें कमी हो रही है , तो इसका मतलब है कि आपके जीवन का आधार ही हिल गया है . किसी में कितना ही बड़ा गुण क्यों न हो , अगर उसका आत्मविश्वास एक बार डिग गया तो वह गुमनामी की जिंदगी जीने को मजबूर हो जाता है . जीवन में सफलता पाने के लिए हर कोई हर संभव कोशिश करता है . जो जिस क्षेत्र है उसी में प्रयासरत ( effort ) है , जैसे – छात्र अच्छा करियर बनाने के लिए पढाई में मेहनत करता है और अच्छे नंबर से पास होकर एक अच्छी नौकरी का अपना सपना पूरा करता है . इसी तरह खिलाड़ी खेल में best performance करके सफलता हासिल करता है . ऐसे ही हर कोई अपने-अपने क्षेत्रों में अपना best देने का प्रयास करता है .

मनचाही सफलता बहुत कम लोगों को मिलती है या कह सकते है कि मन के मुताबिक कामयाबी उन्ही लोगों को मिलती है , जो struggle के समय अपना confidence नहीं खोते .

मुसीबत और बढ़ाएं हर किसी के जीवन में आती है , जिससे उत्साह में कमी आ ही जाती है . इस तरह की situation में confidence उत्साह को बढ़ाता है और उसका result कामयाबी के रूप में मिलता है . Swami Vivekanand जी कहते है – ‘ जिसमें आत्मविश्वास नहीं उसमे अन्य चीजों के प्रति कैसे विश्वास हो सकता है ? आप भी कमजोर न पड़े . अपने आपको powerful बनाओ . आपके भीतर अनंत शक्ति है जो आपके हर काम को आसान कर देगी . बस , आपको अपना confidence बनाए रखना है . ‘

जीवन में किसी भी problem का हल न हो , ऐसा बिलकुल नहीं है .

जीवन की कई कमियां तो सकारात्मक विचारों ( positive thinking ) से ही पूरी हो जाती है . दरअसल , confidence की कमी तब होती है , जब हम किसी बात से डरते है या ये मानने लगते है कि वह हमारे अंदर नहीं है . इन दोनों ही वजहों से उबरना आपके अपने हाथ में है . इसीलिए कई मनोचिकित्सक ( Psychotherapist ) कहते है कि confidence बढ़ाने के लिए सबसे पहले खुद पर यकीन करना सीखें . अपनी कमी को पूरा करने की कोशिश करें . अगर आप बहुत ज्यादा सफल न हो तो भी बिलकुल न डरें . यह प्रकृति का ही नियम है कि हर आदमी सभी कार्यों के लिए नहीं बना होता , इसलिए आपने कोशिश की , यही सबसे बड़ी जीत है .

One Reply to “खुद पर भरोसा रखें – Trust in yourself Self Improvement Tips In Hindi”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.