स्वास्थ्य-रक्षा के 17 नियम - 17 Hygiene Rules In HINDI

कुछ प्राकृतिक नियम स्वास्थ्य-रक्षा और सामान्य ज्ञान के लिए दिये जा रहे हैं, जो हर व्यक्ति के लिए लाभप्रद है। आइए जाने इनके बारे में।

1. सुबह उठकर कुल्ला करके एक गिलास ताजा पानी पीयें, सूर्योदय से पहले उठे। इससे चित्त अति प्रसन्न रहता है।

2. रात को किसी ताम्बे के बर्तन में पानी रख दें। सुबह शौच जाने से पहले नित्य उस पानी को पीते रहने से पैखाना साफ होता है, कब्ज नहीं रहता।

3. शौच करते समय दाँतों का दबाकर बैठने से दांत जीवन भर नहीं हिलते और न कभी लकवा रोग की शिकायत ही होती है।

4. हाथ-मुंह धोते समय मुंह में एक घूंट पानी को भरकर आँखों पर पानी के छीटें दें, इससे आँखों की रोशनी बढ़ जाती है।

5. भोजन करते समय पानी न पिये, अगर विशेष आवश्यकता हो, तो एक घूंट ले सकते हैं। भोजन के एक घंटे के बाद ही पानी पीयें, इससे भोजन पेट में आसानी से पच जाता है।

6. भोजन के बाद टहलना आवश्यक है।

7. रात को सोने से पहले पानी पीना हितकारी है।

8. सप्ताह में कम से कम एक बार सरसों तेल के मालिश अवश्य होनी चाहिए।

9. चिंता करने से जितनी स्वास्थ्य को हानी होती है उतना किसी रोग से नहीं होती।

10. खाना खाने के बाद उठकर पेशाब कर लेने से धातुक्षीणता की बीमारी नहीं होती। स्वप्नदोष (night fall) होने का खतरा नहीं होता।

11. रात को भोजन के तीन घंटे बाद स्त्री-पुरुष का संग होना चाहिए। इसके पहले संभोग करने से पेट की अनेक बीमारियाँ हो जाती है।

12. स्त्री को पुरुष संग के बाद कभी भी बच्चे को दूध नहीं पिलाना चाहिए, इससे बच्चे के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।

13. मधुमेह (diabetics) के रोगी जिन्हें पेशाब में चीनी आती है। अगर वे सुबह-शाम नित्य दौड़ लगायें, तो बिना दवाइयों के पेशाब में शक्कर आना रुक जाता है।

14. अगर किसी व्यक्ति ने शराब ज्यादा पी ली हो, तो एक कागजी नींबू का रस पिलाने से नशा कम जाता है। नींबू को रस से काफी, शराब व अफीम के विष का भी प्रभाव खत्म हो जाता है।

15. अगर किसी व्यक्ति ने भांग ज्यादा पी ली हो, तो आधे छटांक अरहर की दाल उबालकर पिलाने से भांग का नशा कम हो जाता है।

16. अगर आपने ज्यादा आम खा लिया हो तो ऊपर से दो-चार जामुन खा लेने से नुकसान नहीं होगा। अगर जामुन ज्यादा खा लिये हों, तो एक-दो आम खा लेने से नुकसान नहीं होगा।

17. सूती, ऊनी, सिलकन, टेरीकॉट आदि कैसा भी कपड़ा हो उस पर नींबू का रस लगाने से दाग-धब्बे दूर हो जाते हैं। पीतल के बर्तन के दाग भी दूर हो जाते हैं।

एक टिप्पणी भेजें