Blogging करने के सही तरीका क्या है? 10 तरीके

आपने अपना ब्लॉग बना लिए है तो आप अपने ब्लॉग पर आर्टिकल पब्लिश करना शुरू कर दिए होंगे और ब्लॉग्गिंग में सफलता पाने के लिए आप अपने ब्लॉग पर बहुत मेहनत भी करते होंगे। और यही मेहनत अगर सही ढंग से किया जाए तो आप ब्लॉग्गिंग में बहुत जल्द सफलता पा सकते है। पर दुख की बात ये है कि ब्लॉग्गिंग में सफलता पाने के लिए ज्यादातर ब्लॉगर जो रास्ता अपनाते है वो उन्हे सफल ब्लॉगर बनाने की बजाए एक Failure ब्लॉगर बना देता है। मेरे कहने का मतलब है कि अपने ब्लॉग पर आर्टिकल पब्लिश करना ही काफ़ी नही है, आपको ब्लॉग्गिंग करने का तरीका समझना होगा और उसे अपने ब्लॉग पर भी लागू करना होगा।

ब्लॉग बनान के बाद सबसे पहला काम होता है कि आप अपने ब्लॉग पर आर्टिकल पब्लिश करे और ऐसा बहुत से ब्लॉगर करते भी है। और बहुत से आर्टिकल पब्लिश करने के बाद उन्हे एक बात का एहसास होता है कि उनसे एक गलती हो गई जिसे सुधारने के लिए उन्हे फिर से अपने सभी ब्लॉग पोस्ट को सुधारना पड़ता है।

सभी ब्लॉग्गिंग करने के दौरान गलतियाँ करते है ओर मैने भी किया था। लेकिन उन गलतियो को सुधारना भी होगा जिसे हमने अपने ब्लॉग पर किया है जैसे –

  • SEO की जानकारी ना होने के कारण अपने ब्लॉग पोस्ट को SEO friendly नही बनाना।
  • Header tag का इस्तेमाल नही करना।
  • अपने पोस्ट में image use नही करना।
  • पोस्ट meta description add नही करना।
  • पोस्ट permalink पर ध्यान ना देना।
  • पोस्ट को social network पर share नही करना।
  • अपने पोस्ट पर internal link नही देना।

ये छोट-छोटी गलतियों को हम बाद में सुधार सकते है लेकिन ऐसा करने के लिए हम अपने ब्लॉग को काफी समय देना होता है। वैसे भी आज हम आपको ब्लॉग्गिंग के basic concept के बारे में बताने जा रहे है कि ब्लॉग्गिंग करने का सही तरीका क्या है?

ब्लॉग्गिंग करने का सही तरीका क्या है?

ब्लॉग्गिंग करने का मतलब ये नही होता कि सिर्फ़ अपने ब्लॉग पर पोस्ट पब्लिश किया जाए और उसे अपने social network पर share किया जाए। आज हम आपको ब्लॉग्गिंग करने का सही तरीका बता रहे है इसलिए इस पोस्ट को आखिर तक ज़रूर पढ़े ताकि आपको ब्लॉग्गिंग में बहुत जल्द सफलता मिल सके।

1. Quantity पर नहीं Quality पर ध्यान दे

ये सबसे बड़ी गलती है कि blogger अपने ब्लॉग पोस्ट की संख्य को बढ़ाने में लगे रहते है, वो सोचते है ज़्यादा पोस्ट पब्लिश होगा तो ज़्यादा बार सर्च इंजन में हमारा ब्लॉग पोस्ट नजर आएगा और विज़िटर्स आएँगे। पर ऐसा नही है। आपको अपने पोस्ट की संख्य पर नही बल्कि पोस्ट की गुणवत्ता के उपर ध्यान देना है।

पोस्ट की गुणवत्ता यानि कि quality ही निर्णय करती है कि आपका पोस्ट सर्च एंजन में किस स्थान पर नजर आएगा। एक quality वाला पोस्ट 100 low quality वाले पोस्ट से बेहतर होता है क्योंकि quality वाले पोस्ट में ट्रॅफिक भी बहुत ज़्यादा आती है। इसलिए हमेसा quality पोस्ट ही पब्लिश करे।

एक पोस्ट को लिखने में आपको काफ़ी समय लगता है, और quality पोस्ट लिखने के लिए आपको quality time भी देना होता है। बहुत से लोग मुझे कमेंट करते है कि मैने अपने ब्लॉग पर 100 से ज़्यादा पोस्ट पब्लिश कर दिया है फिर भी मेंरे ब्लॉग पर ज़्यादा विज़िटर्स नही आते, और जब में उनके ब्लॉग को विज़िट करके देखता हू तो मुझे उनके किस भी ब्लॉग पोस्ट में quality नज़र नही आती ।

Qulity पोस्ट लिखने का मतलब होता है ऐसा पोस्ट जो informative हो, interactive और जो समझ में आए। मेरा मानना है कि कोई भी quality पोस्ट 1000 शब्दों से ज़्यादा की होनी चाहिए, क्योंकि एक पोस्ट को informative और interactive बनाने के लिए कम से कम 1000 शब्द तो लगता ही है।

सुझाव – ज्यादातर ब्लॉगर अपने ब्लॉग पोस्ट कि संख्या बढ़ाने के चक्कर में ऐसे-ऐसे पोस्ट लिखते है जो low quality वाले होते है, जिसमे शब्दों कि संख्या 500 से कम होती है। ऐसे पोस्ट लिखने का कोई फायदा नही, क्योंकि ऐसे पोस्ट को कोई भी पसंद नही करता। इसलिए ब्लॉग्गिंग करना है तो ठीक से करे और अपने ब्लॉग पोस्ट को quality पोस्ट में बदले।

2. Simplicity is beauty of blogging

सरल और सूचनात्मक जानकारी किसी को भी आसानी से समझ में आ जाता है और यही आपको करना है। आपको अपने ब्लॉग पोस्ट को इतना सरल भाषा में लिखना है जिसे कोई भी आसानी से समझ सके। मैने बहुत से ऐसे ब्लॉग को पढ़ा है और आपने भी किया होगा, कि आर्टिकल में इतने कठिन शब्दों का इस्तेमाल किया होते है जो समझ में नही आते। या फिर ऐसे तरीके से आर्टिकल लिखा होता है कि आर्टिकल पढ़ने के बाद हम भ्रमित हो जाते है।

अगर आप SEO से संबंधित आर्टिकल पढ़ोगे तो आप ज़रूर भ्रमित हो जाओगे और आपको समझने में बहुत दिक्कत होगी कि आख़िर ये SEO होता क्या है, क्योंकि हर आर्टिकल में SEO को लेकर काफ़ी कुछ लिखा जाता है जो एक दूसरे से अलग होती है।

इसलिए आप कोई भी आर्टिकल लिखो तो वो simple, informative or understanding होना चाहिए।

3. User के लिए लिखे न कि search engine के लिए

हर ब्लॉगर को अपने ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स के उपर ध्यान केंद्रित करना चाहिए, क्यूंकि कोई भी ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स के लिए आर्टिकल लिखता है ना की सर्च एंजन के लिए।

हाँ ये बात तो सच है कि आपको अपने ब्लॉग पोस्ट को SEO friendly बनाना होता है ताकि सर्च एंजन आपके पोस्ट को आसानी से पढ़ सके। लेकिन सिर्फ़ SEO friendly आर्टिकल लिखने से आपका आर्टिकल सर्च एंजन के top rank में नही आने वाला। कुछ महीने पहले मैने अपने ब्लॉग पर एक प्रयोग किया था जिसमें मैने 2 आर्टिकल पब्लिश किए जिसमें पहला आर्टिकल पूरी तरह SEO friendly था पर उसमें quality नही थी और दूसरा आर्टिकल जो high quality वाला था पर मैने उसे SEO friendly नही बनाया।

आर्टिकल पब्लिश करने के 4 महीने बाद मेंरा दूसरा आर्टिकल जिसमें मैने कोई SEO नही किया था वो गूगले के टॉप पेज में show होने लगा और जिसमें मैने SEO friendly और low quality आर्टिकल लिखा था वो सर्च एंजन में display ही नही हुआ।

इससे मुझे ये तो clear हो गया कि एक quality आर्टिकल को SEO की ज़रूरत नही होती लेकिन अगर आप quality आर्टिकल को SEO friendly बनाते हो तो वो बहुत जल्द सर्च एंजन पर top rank करने लगती है। अगर मैने अपने quality आर्टिकल को SEO friendly बनाया होता तो वो 4 महीने के बजाए 2 महीने या फिर एक महीने में ही top rank में आ जाती।

वैसे भी, आपको हमेसा अपने ब्लॉग पोस्ट को user के लिए लिखना चाहिए , हमेसा अपने ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स को ध्यान में रखते हुए quality आर्टिकल पब्लिश करे।

4. User friendly article लिखे

User friendly आर्टिकल का मतलब होता है ऐसा आर्टिकल जिसे पढ़ने पर आसानी से समझ में आ जाए, जो readers को bore होने ना दे, जिसे पढ़ने के बाद कोई भी दूसरे वेबसाइट पर उसी टॉपिक को सर्च ना करे। हर ब्लॉगर को अपने आर्टिकल को user friendly बनाना ही चाहिए। एक आर्टिकल में अपने emotions, feeling or experience add करके आप ऐसा कर सकते हो।

लोग सबसे ज़्यादा वही आर्टिकल पढ़ना पसंद करते है जो किसी की real life से belong करता हो।

उदाहरण के लिए – अगर में SEO क्या होता है टॉपिक के उपर आर्टिकल लिखूंगा तो में अपने आर्टिकल को user friendly बनाने के लिए इसमें अपना real life experience share करूँगा जैसे – जब मैने ब्लॉग्गिंग की शुरुवात की थी तो मुझे SEO के बारे में कुछ भी पता ही नही था और जब इसके बारे में पता चला तो मैं थोड़ा निरास हो गया क्योंकि SEO के बारे में जानकारी ना होने की वजह से मैने अपने ब्लॉग को SEO friendly नही बनाया। जिससे मुझे फिर से अपने सभी पोस्ट को सुधारने पड़े।

बस आपको अपने आर्टिकल को user friendly बनाना है। और user friendly आर्टिकल को ऐसा लिखे की जब भी कोई आपके आर्टिकल को पढ़े तो उसे लगना चाहिए की आप उनसे बात कर रहे हो।

5. Regular post publish करे

ये बहुत जरुरी है कि आप अपने ब्लॉग को अपडेटेड रखे। और अपने ब्लॉग को अपडेटेड रखने के लिए आपको regular अपने ब्लॉग पर नए पोस्ट पब्लिश करने होंगे। ज्यादातर ऐसा देखा जाता है कि लोग ब्लॉग तो बना लेते है लेकिन अपने ब्लॉग पर आर्टिकल पब्लिश करने में बहुत समय लगाते है। ब्लॉग्गिंग करने का मतलब ये नही कि आप महीने में 1 आर्टिकल पब्लिश करो लेकिन इसका मतलब ये होता है कि आप कम से कम हफ्ते में 2 quality आर्टिकल ज़रूर पब्लिश करो।

ब्लॉग्गिंग करने का ये सबसे जरुरी पॉइंट है कि आप अपने ब्लॉग को हमेसा अपडेटेड रखो, ताकि आपका ब्लॉग जल्द से जल्द सर्च एंजन में रैंक हो सके। जो ब्लॉगर अपने ब्लॉग को regular अपडेट नही करते उनका ब्लॉग गूगल में अच्छा रैंक नही कर पाता। इसलिए हमेसा ये ध्यान में रखे कि आपको अपने ब्लॉग पर कम से कम हफ्ते में 2 आर्टिकल पब्लिश करना होगा।

6. पुराने post को update करे

नए आर्टिकल पब्लिश करने के चक्कर में हम अपने पुराने आर्टिकल को भूल जाते है। आपने देखा होगा कि घर में जो सामान हम रखते है उसे साल में या फिर महीने में एक बार ज़रूर साफ करते है, अगर हम अपने घर के समान को साफ नही करेंगे तो उसमें धूल लग जाएगी और वो खराब हो जायेगा। ठीक इसी तरह हमारे ब्लॉग पोस्ट भी होते है, पुराने ब्लॉग पोस्ट को अपडेट ना करने पर वो ठीक से perform नही कर पाते।

उदाहरण के लिए – मान लीजिए कि एक साल पहले आपने एक आर्टिकल लिखा था जिसका टाइटल है ” ब्लॉग और adsense“। अब एक साल बाद इसी टॉपिक पर आपको इंटरनेट पर बहुत से आर्टिकल मिल जायेगा जो आपके आर्टिकल से बेहतर होंगे। बेहतर आर्टिकल का मतलब होता है गूगल में अच्छा रैंक। अगर आप अपने उस आर्टिकल को अपडेट नही करोगे तो वो गूगले में अच्छा रैंक नही करेगा,और उस आर्टिकल पर ज़्यादा ट्रॅफिक नही आएगी।

पुराने आर्टिकल को अपडेट करके हम अपने पुराने आर्टिकल को सर्च एंजन पर अच्छा रैंक दिला सकते है। और यही ब्लॉग्गिंग का सबसे जरुरी नियम है कि आप अपने ब्लॉग पर नए पोस्ट पब्लिश करो और पुराने वाले पोस्ट को अपडेट करो।

7. Comment का reply करे

ब्लॉग्गिंग करने के दौरान आप अपने ब्लॉग पर आर्टिकल लिखते हो और उसे पब्लिश करते हो । सम्पूर्ण तौर पर देखा जाए तो हम अपने ब्लॉग पर जीतने भी पोस्ट पब्लिश करते है वो सभी हमारे ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स के लिए ही होते है। आपके ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स आपके घर में आने वाले गेस्ट की तरह होते है, जो आपके ब्लॉग पर अपना समय बिताते है और आपका आर्टिकल पढ़ते है।

आर्टिकल पढ़ने के बाद वो अपने सुझाव, सवाल, प्रतिक्रिया और शंका आपके साथ कमेंट के ज़रिए share करते है। और आपका काम होता है कि उन सभी कमेंट का आप जवाब दो।

चाहे कमेंट जैसे भी हो आपको उनके कमेंट का जवाब ज़रूर करना देना चाहिए, चाहे आप जवाब में धन्यवाद् ही क्यों ना लिखे, पर जवाब जरुर दें। इससे आपके और आपके ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स के बीच एक संबंध बनती है। और ये आपके ब्लॉग को लोकप्रिय करने के लिए भी हदादगार होता है।

अगर मैं अपने बारे में काहु तो मैंउस ब्लॉग पर दुबारा विज़िट नही करता जो मेंरे कमेंट का रिप्लाइ नही करते, सयद आप भी ऐसा करते होंगे। पर मैं अपने ब्लॉग पर होने वाले हर कमेंट का जवाब ज़रूर देता हू। और हर ब्लॉगर को भी यही करना चाहिए।

8. Trust buildup करे

हर ब्लॉगर का एक जरुरी काम होता है कि वो अपने ब्लॉग पोस्ट और पेज के ज़रिए अपने ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स का भरोसा जीते। मैने यहा पोस्ट और पेज की बात की है, चलिए इसके बारे में आपको स्पष्ट रूप से बताते है।

पोस्ट – पोस्ट के ज़रिए भरोसा जीतने का मतलब होता है कि अपने ब्लॉग पोस्ट को ऐसे लिखे कि readers आप पर भरोसा करे। आज कल ब्लॉग के ज़रिए affiliated marketing के बारे में आपने सुना ही होगा, लोग affiliated marketing के ज़रिए बहुत पैसा भी कमा रहे है। ऐसा इसलिए है क्यूंकि उनका आर्टिकल पर लोग भरोसा करते है, क्यूंकि उनके आर्टिकल में quality, interaction, information, details, experience और uniqueness होता है।

पेज – बहुत से ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर contact us page create करते है। पर क्या आपको लगता है कि जब कोई विज़िटर्स उनसे संपर्क करने की कोशिश करता है तो वो उन्हे संपर्क कर पाते होंगे ? नही, ज़्यादातर ब्लॉगर अपने विज़िटर्स के साथ संपर्क नही करते बस उन्होने नाम के लिए contact us page create किया होता है।

आपने अपने ब्लॉग पर contact details डाली है और आप अपने ब्लॉग readers के साथ communicate नही करोगे तो आप अपने विज़िटर्स का भरोसा कैसे जीतोगे। कुछ ब्लॉगर अपने ब्लॉग पर whatsapp नंबर, फ़ेसबुक id share भी करते है , लेकिन उनसे contact करने पर वो जवाब ही नही देते ।

इससे ना सिर्फ़ आपके ब्लॉग का trust value down होती है बल्कि आपके ब्लॉग का नाम भी खराब होता है। इसलिए आपको अपने ब्लॉग पोस्ट के जरिये अपने ब्लॉग पाठकों को भरोसा दिलाना है कि आपने जो जानकारी दी है वो genuine है। और अगर आपने अपने ब्लॉग पर कोई contact page बनाया है या फिर आपने अपना कोई contact share किया है तो आप अपने ब्लॉग readers के साथ बातचीत ज़रूर करे।

9. समर्पित रहे

सम्पूर्ण रूप से ब्लॉगर को अपने ब्लॉग को अच्छे से चलाने करने के लिए समर्पण की ज़रूरत होती है। और ये समर्पण आपको अपने ब्लॉग के जरिए ही मिलेगी। जैसे-जैसे आप अपने ब्लॉग की उन्नति देखोगे आप अपने ब्लॉग के प्रति समर्पित होते चले जाओगे। लेकिन ब्लॉग बनाने के तुरंत बाद ही आपको परिणाम नही मिलेगा, आपको कम से कम 6 महीने अपने ब्लॉग पर quality पोस्ट पब्लिश करने होंगे और 6 महीने के बाद आप खुद अपने ब्लॉग की performance देख कर खुद पर गर्व महसूस करोगे।

कुछ ब्लॉगर को ना जाने क्या खुजली होती है कि वो अपने ब्लॉग को लेकर कुछ ज़्यादा ही संवेदनशील रहते है। ब्लॉग पर कमेंट और ट्रॅफिक ना आने की वजह से दुखी हो जाते है। और हमेसा तनाव में रहते है कि अपने ब्लॉग पर ऐसा क्या करे कि वो रातो रात लोकप्रिय हो जाए।

Hello bloggers, आप सभी को तनाव की नही समर्पण की ज़रूरत है, तनाव लेने से आपका ब्लॉग दुखी हो जाएगा और आप ठीक से अपने ब्लॉग पर ध्यान नही दे पाओगे। इसलिए अपने ब्लॉग्गिंग पर हमेसा समर्पित रहे।

10. अपने आपको successful blogger समझे

ये बहुत ज़रूरी है कि आप अपने आपको क्या समझते हो, अगर आपको लगते है कि ब्लॉग के जरिए अच्छी कमाई होने से ही आप सफल ब्लॉगर बन सकते हो तो आप गलत सोचते हो। सफल ब्लॉगर वही होता है जो अपने आपको ब्लॉगर कहलाना पसंद करता है, जिसका जूनून ब्लॉग्गिंग हो, जो हमेसा अपने ब्लॉग पर quality content publish करते हो और जो अपने ब्लॉग को लोगो से communicate करने का जरिया मानते हो। एक बात हमेसा याद रखो की आप जैसा सोचते हो वैसा आप बन जाते हो।

तो दोस्तों आज का हमारा आर्टिकल ब्लॉग्गिंग करने का सही तरीका जाने हिन्दी में आपको कैसा लगा हमें कमेंट के जरिये जरुर बताये। Happy Blogging

एक टिप्पणी भेजें