स्वास्थ्य से जुड़ी छोटी-छोटी बातों को हम अक्सर अनदेखा कर देते है, पर यही छोटी-छोटी बातें कब बड़ी समस्या बन जाती हैं, हमे पता भी नहीं चलता। ठीक इसी तरह हमारा दिल भी हर समय हमसे कुछ कहता है, उसकी धड़कनों को अनसुना ना करें, वरना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

कैसे पता लगायें कि हमारा दिल स्वस्थ्य है या नहीं?

डॉक्टर के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति को पता लगाना है कि उसका दिल स्वस्थ्य है या नहीं, तो उसे इन बातों पर ध्यान देना चाहिये।

  • क्या सीढ़ियां चढ़ते समय या थोड़ी दूर चलने पर ही आपकी सांस फूलने लगती है?
  • क्या थोड़ी दूर चलने पर भी आपको सिने में दर्द महसूस होता है?
  • थोड़ा काम करने पर भी थक जाते हैं और गले में जलन का एहसास होता है?
  • सुबह सो कर उठने के बाद सिने में दर्द या तनाव महसूस होता है?
  • सिने का दर्द धीरे-धीरे बाएँ की तरफ या फिर गले की तरफ बढ़ता हुआ महसूस होता है?

अगर इन सरे सवालों का ज्यादातर जवाब हाँ है, तो इसका साफ मतलब है कि आपका दिल स्वस्थ्य नहीं है। आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिये। Heart Problem का सबसे बड़ा लक्षण यह है कि सिने में दर्द होने पर व्यक्ति किसी एक जगह उंगली ना रखकर पूरा हाथ रखकर इशारा करता हैं, क्योंकि उन्हें पूरे सिने में तनाव महसूस होता है। ज्यादातर दिल का दौरा सुबह के समय आते हैं, इसीलिए अगर सुबह-सुबह सिने में दर्द हो रहा है, तो सावधान हो जाएँ, वो दिल का दौरा भी हो सकता है।

दिल की बीमारी के लक्षण– Symptoms Of Heart Disease

शुरुवात में दिल की बीमारी का ज़्यादा कुछ लक्षण नज़र नही आता, लेकिन जब रोगी को कोई शारीरिक गतिविधि जैसे दूर तक पैदल चलना, सीडी चढ़ना, दौड़ते समय सिने में दर्द का अनुभव होता है। छाती में दर्द होना।

ये इसलिए होता है कि जब हम ज़्यादा काम करते है तो हमारे हृदय को normal से ज़्यादा खून pump करना पड़ता है, और खून की कमी के कारण हृदय को पर्याप्त मात्रा में खून नही मिल पता और इसके वजह से छाती में दर्द होने लगता है।

Heart attack के लक्षण– Symptoms Of Heart Attack

  • घबराहट होना
  • सास लेने में तकलीफ़ होना
  • हृदय का ज़्यादा धड़कना
  • पसीना छूटना
  • चक्कर आना
  • जी मचलना
  • कमज़ोरी का एहसास होना
  • बेहोस हो जाना

बीमार दिल के चेतावनी संकेत

1. गर्दन में दर्द

अगर आपको लगातार गर्दन और कंधों में दर्द महसूस हो रहा हो और मालिश करने या फिर दर्द की दवा लेने पर भी दर्द ना जाए, तो ये Heart Problem की शुरुवात हो सकती है। दरअसल, दिल के Damaged Tissue शरीर में चेतावनी संकेत भेजते हैं।

2. पैरों में दर्द या घाव

पैरों की धमनियों में plaque जमा होने के कारण तलवों में खिचाव, दर्द, घाव का ठीक ना होना आदि लक्षण दिखाई देते है, जिससे आघात और दिल का दौरा का खतरा बढ़ जाता है।

3. चक्कर आना

दिल की धमनियों में plaque जमा होने से शरीर में रक्त की आपूर्ति कम हो जाता है, जिससे बाकी अंग को कम ऑक्सीजन मिलता है और व्यक्ति को चक्कर आने लगता है। अगर आपको ऐसा लगता है तो सावधान हो जाएँ।

4. जबड़ो और कान में दर्द

दिल का दौरा के मरीज़ों से पूछे जाने पर पता चला है कि वे कुछ दिनों पहले से ही कान और जबड़ो में दर्द महसूस कर रहें थे। दरअसल, गर्दन के दर्द की तरह ही दिल के Damage Tissues रीड की हड्डी को भी चेतावनी संकेत भेजती हैं, जिससे जबड़ो और कान में दर्द होता है।

5. सोने में परेशानी

सोते समय खर्राटें लेने से दिल में Blood Oxygen की आपूर्ति पर असर पड़ता है, जिसकी कमी को पूरा करने के लिए दिल को अतिरिक्त प्रयास लगाना पड़ता है। इससे दिल पर दबाव पड़ता है। यह अस्वस्थ्य दिलt की शुरुवात हो सकती है, इसीलिए नींद संबंधित किसी भी समस्या को हलके में ना लें।

6. कमज़ोरी महसूस होना

बिना किसी शारीरिक गतिविधि किए भी कमज़ोरी का महसूस होना हृदय परेशानी के लक्षण में से एक है।

जिन लोगो को High Blood Pressure, Diabetics और High Cholesterol की समस्या हो, उन्हें कई बार Heart Problem के लक्षण दिखाई भी नहीं देते, जिसके कारण दिल का दौरा number one Silent Killer बन जाता है।

दिल की बीमारी का घरेलू इलाज

1. सरसों का तेल– खाने में सरसों तेल का रोज़ाना इस्तेमाल स्वास्थ्य को बेहतर बना सकता है, इसमे essential fatty acid ratio से हृदय की बीमारी के ख़तरे को 70% तक कम किया जा सकता है।

2. लहसुन– कच्चे लहसुन रोज सुबह खाली पेट छिल कर खाने से blood circulation ठीक रहता है और दिल को मजबूत बनाता है, इससे cholesterol भी कम होता है।

3. सेब का रस– सेब का रस और आंवले का मुरब्बा (Gooseberry jam) खाने से दिल बेहतर ढंग से काम करता है।

4. शहद– शहद दिल को मजबूत बनाता है। इसलिए एक चम्मच शहद रोज़ाना ले।

5. एलो वेरा– रोजाना 50 ग्राम कच्चा एलो वेरा खाली पेट खाने से भी cholesterol कम हो जाता है।

6. लौकी– लौकी उबाल के उसमे, जीरा और हल्दी का पाउडर और हरा धनिया डालकर कुछ देर पका कर इसे एक सप्ताह में कम से कम 2-3 बार खाइए। इससे दिल को शक्ति मिलती है।

7. अनार का रस– अनार का रस में मिश्री मिलाकर हर रोज सुबह-शाम पीने से दिल मजबूत होता है।

8. बादाम– बादाम खाने से दिल स्वास्थ्य रहता है क्योंकि इसमें विटामिन और फाइबर्स भरपूर मात्रा में होती है।

9. प्याज– अर्जुन छाल और प्याज़ को बराबर पीस कर समान मात्रा में तैयार कर डेली आधा चम्मच दूध के साथ लेने से दिल कि बीमारी में लाभ मिलता है।

10. आलसी– खाने में आलसी के तेल का सितेमाल करे। आलसी में omega-3 fatty acid भरपूर मात्रा में होती है, जिसे दिल मजबूत होता है। या फिर आलसी के पत्ते और सूखे धनिय का काढ़ा बनाकर पीने से भी हृदय की कमज़ोरी मिटती है।

11. छोटी इलायची– छोटी इलायची और पीपरमूल का पाउडर घी के साथ खाने से भी दिल मजबूत रहता है।

12. देसी घी– दिल को मजबूत बनाने के लिए गुड़ को देसी घी में मिलाकर रोज़ाना खाने से भी बहुत फ़ायदा होता है।

13. गाजर का रस– गाजर के रस को शहद में मिलाकर पीने से दिल मजबूत होता है।

कौन-कौन से टेस्ट करवायें?

Advance टेस्ट

Cardiac Calcium Scoring – यह 10 साल बाद होनेवाले दिल का दौरा के खतरे को पूर्व सुचना देता है। Doctor के मुताबिक यह नंबर 1 दिल का दौरा Predictor है।

Carotid Intimal Medial Thickness Test – Blood flow Block होने के बहुत पहले ही यह आपको Blockage की सुचना देता है।

High Sensitivity C Reactive Protein Test – इस Blood Test के जरिये Blood में C-Reactive Protein (CRP) की मात्रा को check किया जाता है। Cholesterol plaque के कारण Inflammation और CRP level बढ़ जाता है, जिससे दिल का दौरा और Stroke का खतरा बढ़ जाता है।

बचाव

स्वास्थ्य के 4 Principal अपनाए

1. Nutrition – पोषण की कमी से हमें ना जाने कितनी बीमारियाँ घेर लेतीं है। कई बीमारियाँ एक-दुसरे से जुड़ी होती है, इसीलिए nutrition से भरपूर Diet लें।

2. Positive Attitude – स्वस्थ्य रहने में positive thinking बहुत helpful साबित होता है।

3. Rest – Daily 6-8 घंटे का प्रयाप्त नींद लें।

4. Physical Activities – 30 minute daily चलें और खुद को ज्यादा से ज्यादा Active रखें।

  • बढ़ते Stress का सीधा असर हमारे heart पर पड़ता है, इसीलिए खुद को Relax रखें और daily meditation करें।
  • Blood Pressure, Blood Sugar और cholesterol को हमेशा controlled रखें।
  • अक्सर लोग दिल का दौरा को Acidity का Attack समझकर अनदेखा कर देते हैं, जो deadly भी हो सकता है।
  • Smoking और Alcohol से बचें।
  • अपना वजन नियंत्रित रखें और Regular Checkup करवाएं।

आज अपने क्या जाना?

आज हमने दिल कि बीमारी के बारे में जाना, दिल कि बीमारी के लक्षण के बारे में जाना और साथ में ये भी जाना कि दिल कि बीमारी को दूर करने के लिए घरेलु उपाय क्या है। अगर आपको आज कि हमारी जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरुर share करे। धन्यवाद