आज सुबह-सुबह, अखबार में sad news के column में, अपनी फोटो को देख हैरान था, आश्चर्य, क्या मैं मर गया हूं? या किसी मसखरे का शिकार हो गया हूं। रूको, थोड़ा सोचता हूं। पिछली रात ही तो मेरे सीने में भारी दर्द उठा था और मैं पसीने से तरबतर हो गया था, फिर मुझे कुछ याद नही। मैं शायद गहरी नींद में सो गया था और अब सुबह के 8 बज चुके है। बिना coffee मेरी आँख नहीं खुलती। आज office में फिर late होने वाला हूं। चिढचिढे boss का फिर lecture सुनने वाला हूं पर ये क्या? क्यूँ मेरे घर में भीड़ हो रही है। सारी भीड़ क्यूँ रो रही है। यहां बरामदे में क्यूँ हाहाकार मचा पड़ा है मेरा शरीर सफेद कपड़ों में लिपटा जमीन पर क्यूँ पड़ा है?

मैं यहां हूं, मैं चिल्लाता हूं, कोई इधर देखो, सुनो, मैं यहां हूं, न कोई ध्यान देता है, न कोई सुन पाता है। हर कोई कातर नजर से बस मेरे शरीर को निहारते है। मैं अपने कमरे में वापस आ जाता हूं। बाहर कोहराम मचा है। ये क्या मेरी पत्नी रो रही है। बहुत दुखी और उजड़ी सी दिख रही है मेरे बेटे को शायद कुछ एहसास नही है। वह सिर्फ इसलिये रो रहा है कि क्योंकि उसकी माँ बदहवास है, लगता है मैं मर गया हूं।

क्या मैं मर गया हूं? – Am I dead? in Hindi

मैं कैसे मर सकता हूं। अपने बेटे से कहे बगैर कि मैं उसे सचमुच बहुत प्यार करता हूं, मैं उसका बेहद ख्याल रखता हूं। मैं कैसे मर सकता हूं। अपनी बीबी से कहे बगैर कि वह दूनिया की सबसे सुंदर और ख्याल रखने वाली बीबी है। मैं कैसे मर सकता हूं माँ-बाप से कहे बगैर कि वे है तो ही मैं हूं। मैं कैसे मर सकता हूं अपने दोस्तों से कहे बगैर कि वे मेरे जीवन के सारे गलत फैसलों पर भी वे मेरे साथ थे, पर मैं ही ज्यादातर मैं वहाँ स्वयं नहीं पहुँच पाया था, जब उन्हें मेरी सबसे ज्यादा जरूरत का वास्ता था और वे ज्यादा जरूरतमंद थे।

मैं एक बंदे को देख रहा हूं, जो कोने में खड़ा आँसू छुपाने की कोशिश कर रहा है। कभी हम अतिप्रिय अभिन्न मित्र थे। छोटी सी ग़लतफ़हमी ने हमें जुदा कर दिया। उन दिनों हम ego की पराकाष्ठा में थे, हमने कभी एक-दूसरे को माफ नहीं किया। मैं उसके पास जाता हूं, अपने दोनो हाथों को आगे बढ़ाता हूं, दोस्त मैं अपनी गलतियों के लिये क्षमा माँगता हूं, हम आज भी अच्छे दोस्त है, मुझे माफँ कर दो। ये क्या उसके तरफ से कोई response ही नहीं मिलता, क्या वह आज भी उसी ego में है, मैं जबकि माफी माँग रहा हूं, फिर भी, उसका मिजाज नहीं मिलता पर वह निरन्तर रोता जा रहा है, पर एक second। शायद वह मुझे और मेरे हाथ को नहीं देख पा रहा है, तो क्या मैं सच में मर गया हूं?

जमीन पर लेटे मैं अपने शरीर के पास बैठ जाता हूं, क्या करूँ कैसे करूँ किसे पुकारू कुछ समझ नहीं पाता हूं दिल करता है कि मैं फूट-फूट के रोऊँ। एकदम से हुई इस अनहोनी पर कहा अपना सिर धुनु और फोड़ू। हे भगवान, मुझे कुछ समय और दो, मैं अपने बेटे, बीबी, माँ-बाप, दोस्तों को बताना चाहता हूं कि मैं उनसे कितना प्यार करता हूं।

मेरी बीबी कमरे में आती है, तुम बहुत सुन्दर हो मैं प्यार से बार-बार दोहराता हूं वह मेरे शब्दों को नहीं सुन पाती है सच ये है कि जीवन में उसने ये शब्द मेरे मुँह से कभी सुनें ही नही, हाँ, मैंने कभी कहा भी तो नही।

हे भगवान !!
मुझे थोड़े दिन और दे केवल एक बार।

क्योंकि, अपने बेटे को अपने सीने से लगाना चाहता हूं। अपनी माँ को मुस्कुराते देखना चाहता हूं। अपने पिता को अपने ऊपर गर्व करवाना चाहता हूं, केवल एक बार बस एक बार अपने दोस्तों को sorry कहना चाहता हूं। मैं तो उन्हें कभी समय नहीं दे पाया, पर आज भी वे मेरे साथ है, इसका धन्यवाद देना चाहता हूं।

मैंने ऊपर देखा
मैं चिल्लाया भगवान  !!!
केवल एक मौका और !!!!!!!!!!!

तुम सपने में चिल्ला रहे हो, उठो, क्या तुमने कोई बुरा सपना देखा? मेरी बीबी ने मुझे थपथपाया, मेरा बेटा मेरी बगल में था, मेरी बीबी वही थी। वह मुझे सुन सकती थी मैंने लंबी साँस ली, उसे गले लगाया और कहा, तुम मेरा ख्याल रखने वाली, दुनिया की सबसे हसीन बीबी हो। मैं सच में तुमसे बहुत प्यार करता हूं उसकी आँखों की नमी और चेहरे पे आई प्यारी मुस्कान इस मोहक मुस्कान को मैं ही समझ सकता था। भगवान, इस दूसरे मौके के लिये धन्यवाद, मैंने मन ही मन दोहराया।

Friends अभी भी देर नहीं हुई है। अपने झूठे EGO, अतीत के पुराने विवाद और मतभेदों को भुलाकर अपने प्रियजनों और मित्रों से खुलकर अपने प्यार को जतायें और झगड़े और मनमुटाव को भुलाकर नई शुरुवात करें क्योंकि जिंदगी में दूसरा अवसर नहीं मिलता है। खुश रहें और सभी को भी खुश रखें।