नाखूनों की सफाई कैसे करें? नाखूनों की देखभाल कैसे करें?

नाखून हाथों के हो या पैरो के उन्हे समय-समय पर काटते रहना चाहिए। जिन लड़कियों को नाखून बढ़ाने की चाह है उन्हे हर दिन नाखूनों की सफाई अवश्य करनी चाहिये। ध्यान रहे बढ़े हुए नाखून नवयुवती अथवा विवाहित महिलाओं की शोभा तो बढ़ाती है लेकिन काम करते समय इनसे थोड़ी परेशानी ज़रूर होती है। नाखूनों की सफाई के लिए समय भी निकालना पड़ता है। अगर इनके अंदर गन्दगी जमा हो जाए तो एक तो ये भद्दे लगते है दूसरे गन्दगी स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होती है।

नाखूनो की सफाई कैसे करें?

1. रेगुलर नाख़ून काटे

रेगुलर nails काटने से आप नाखुनो को साफ रख सकते हो. नाख़ून किसी अच्छे ट्रिम से काटे जिससे नाख़ून काटते वक्त shape सही रहे. Regular नाख़ून काटने का एक फायदा ये भी है की नाखुनो मे फसी गंदगी ज़्यादा दिखेगी नही.

2. नाखुनो मे तेल लगाए

Nails oil इस्तेमाल करने से आप अपने नाखुनो को स्ट्रॉंग और हेल्ती बना सकते हो. हर रोज कम से कम 2 से 3 मिनिट तक अपने नाखुनो मे तेल लगाए. अगर आप कन्फ्यूज़ है की मार्केट मे बहुत से nails oils होते है तो कोन सा better है. तो हमेशा सभी oils के रिव्यू पढ़े, जिनके रिव्यू सबसे बेस्ट है वो oils इस्तेमाल करे.

3. नाखुनो को क्लीन रखे

अगर हम इंडियन की बात की जाए तो हम नाखुनो को क्लीन ज़्यादा टाइम तक नही रख सकते. नाखुनो को क्लीन रखने से होता क्या है कि gems, bacteria, fungus नाखुनो मे नही जमती है. तो अब नाखुनो को क्लीन रखने के लिए हम ज़्यादा टाइम तक rubber glove तो पहन नही सकते because हम इंडियन को ज़्यादातर काम हाथो से करने होते है. तो फ्रेंड्स आपको जब भी टाइम लगे हाथो को क्लीन रखे.

4. नाखुनो की मसाज करे

सुनने मे थोडा अजीब लगता है पर जी हा ये सच है, नाखुनो की मसाज भी होती है. Nails मसाज से नाखुनो मे ब्लड फ्लो तेज़ी से होता है जिससे नाखुनो की growth जल्दी होती है और नाखुनो मे चमक आती है. मसाज करने के लिए या तो आप अपने नाखुनो को आपस मे रगड़ सकते हो नही तो मार्केट मे tools आते है जिससे आप easily मसाज कर सकते हो.

5. नाखुनो मे पोलिश करे

नाखुनो मे पोलिश करने से हमारा मतलब् है की नाखुनो मे कलर करना. नाखुनो मे कलर लड़किया या महिलाए ही करती है लड़को को ये करना पसंद नही है. अगर आप लड़की है तो यहा पर आपको कुछ टिप्स मिल सकते है. हमेशा ध्यान रखे की जब आप कही पार्टी मे जर रही हो या बाहर जा रही हो तो अपने कपड़े के matching के हिसाब का nail पोलिश इस्तेमाल करे और हा हमेशा costly nail पोलिश इस्तेमाल करे because सस्ते nail पोलिश आपके नाखुनो को damage कर सकते है.

6. ग़लत तरीके से नाख़ून ना काटे

नाखुनो की ब्यूटी तब ख़त्म हो जाती है जब नाख़ून ग़लत तरह से कटे हो. हमेशा नाख़ून काटते टाइम नाखुनो को एक shape मे काटे. तभी आप नाइल्स की ब्यूटी को कामयाब रख सकते हो. तो फ्रेंड्स आपको हमारा ये आर्टिकल केसा लगा, हमे बताने के लिए हमे कॉमेंट बॉक्स पर कॉमेंट करे और हा यार प्लीज़ इस आर्टिकल को सोशियल मीडीया साइट्स पर शेर करे.

नेल पोलिश लगाने का तरीका

नाखूनों की सुंदरता नेल-पोलिश से बढ़ती है। नाखूनों को रंग कर सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए तरह-तरह रंग की नेल-पोलिश को ही इस्तेमाल मे लाया जाता है। लक्मे की नेल-पोलिश पक्की और जल्दी ना उतरने वाली मानी जाती है।

जिन रंग की और शेड्स (shades) की नेल-पोलिश आपके हाथ-पैरो की त्वचा से मेल खाए, खिल सके, उसी रंग और शेड्स की नेल-पोलिश का इस्तेमाल करना चाहिए जिससे वो ज्यादा आकर्षक और सुंदर दिखाई दे।

आज कल रंगीन नेल-पोलिश का प्रचलन काफ़ी कम सा गया है। उसके स्थान पर बिना रंग की नेल-पोलिश ही अधिक लगाई जाने लगी है। इससे नाखून अपने स्वाभाविक रंग में ही रहते है और केवल चमकदार हो जाते है, जो वास्तव में उंगलियों की सुंदरता बढ़ाते है।

जब भी आप नेल-पोलिश लगाए उससे पहले पुरानी नेल-पोलिश के निशानों को साफ़ कर लें। इसके लिए रिमूवर का प्रयोग किया जाता है। जिस रिमूवर मे acetone मिला हो, उसका प्रयोग कभी नही करना चाहिए। रुई को रिमूवर में भिंगोकर जड़ से नाखून के किनारे की ओर मलें।

नाखूनों की जड़ों पर नॉटिकल क्रीम या नाइल-फुड की मालिश करें। कुछ मिनट तक क्रीम को अंदर तक घुसने दे ओर मलकर सुखाए। इसके बाद नेल ड्राइयर नाखून पर लगाएँ। फिर ब्रश से लंबाई के रुख़ नेल-पोलिश के दो कोट करे। नाखूनोंं पर लगाई गई पोलिश को जल्दी सुखाने के लिए quick drying-spray का भी प्रयोग किया जाता है।

नाखूनों की शूरक्षा करने का तरीका

विटामिन- A, D और B कॉम्प्लेक्स नाखूनों के विकास के लिए अच्छी होती है।

कैल्शियम ओर शराब की खमीर से फटे नाखून भी ठीक हो जाते है।

सरेस को जूस में  मिलकर पीने से फटे हुए भी नाखून भी ठीक हो जाते है और आगे के लिए उनकी सुरक्षा भी होती है।

भोजन द्वारा नाखूनों के विकास ओर अवस्था को सुधारने के अतिरिक्त यदि आप हाथों द्वारा कोई कठोर कार्य करते समय हाथों पर, नाखूनों पर ओर नाखूनों के नीचे कोई अवरोधक क्रीम लगा ले तो आपके हाथ ही नही, बल्कि नाखून भी अच्छी स्तिथि में रहेगी।

कास्टिक्क वाले साबुन से हाथों को बचाए रखने का प्रयास करना चाहिए।

टेलिफोन का रोज़ाना घूमते समय या टाइप करते समय नाखूनों का विशेष ध्यान रखिए।

नेल-वार्निस ना प्रयोग बहुत अधिक ना करे।

नाखूनों को काटने या छाटने से पूर्व उन्हे हल्के गर्म जैतून के तेल मे भिंगो ले।

इससे काटते समय नाखून टूटते या फटते नही।

बादाम रोगन और सफेद आयोडीन मिलकर नाखूनों के लिए बढ़िया लेप तैयार हो जाता है।

चिकना ना होने के कारण सफेद आयोडीन दिन में कभी भी लगाया जा सकता है।

धब्बे हटाने के लिए नाखूनों पर आलू या नींबू का टुकड़ा मलें।

असली मोम (मधुमक्खी का मोम) से पोलिश करने पर नाखूनों मे खून का दौरा बढ़ता है, जिस कारण वो लाल-लाल और चमकदार रहते है।

अरंडी का तेल तोड़ा सा acetone मिलकर लगाने से, नेल-पोलिश रिमूवर नाखूनों के एनॅमल की रक्षा करता है।

नाखूनों को मज़बूती और सुरक्षा प्रदान करने के लिए नाखूनों को किनारे सीधे और समान रखिए।

काटने और घिसने के बाद नाखूनों को हल्के गर्म साबुन के पानी मे भिंगोकर ब्रश से साफ़ करें और सूखा लें।

नाखूनों के उपर नाखूनों की जड़ मे स्तिथ खाल को remover की सहायता से नर्म ओर ढीला कर लें।

इसके बाद scrapper से उन्हे काट लें। इस बात का ध्यान रहे, खाल पर ज़्यादा ज़ोर ना लगाएँ, वरना जीवित खाल घायल हो सकती है, जो बाद मे पीड़ा देती है।

नाखूनों के आस पास हल्का तेल लगाएँ और पौछ दें।

नाखून काले पड़ जाने पर क्या करे?

अनेक स्त्रियों के नाखून अक्सर काले पड़ जाते हैं, इसका कारण यह है कि वह हर दूसरे-तीसरे दिन नेल-पॉलिश के कलर चेंज करती रहती है।

विशेषकर ऑफिस में कार्यरत स्त्रियों में ये आदत बहुत होती है।

इसी कारण उनके नाखून अपनी स्वाभाविकता को खो बैठते हैं और काले पड़ जाते हैं।

नाखून काले पड़ जाने के कारण नेल-पोलिश नहीं बल्कि remover है, जिसका प्रयोग नाखून पर नेल पॉलिश को साफ करने के लिए किया जाता है।

नेल-पोलिश में farmldihaid रेसिन नामक तत्व का मुख्य घटक है, जिससे नाखूनों का प्रकृतिक कलर उड़ जाता है।

चमक समाप्त हो जाता है और नाखून काले और भद्दे हो जाते हैं।

शेष पूर्ति remover कर देता है क्योंकि जितनी बार नेल-पोलिश साफ की जाएगी उतनी ही बार नहीं पोलिश का प्रयोग किया जाता है।

घटिया किस्म के remover में acetone मिला होता है जो नाखूनों के रक्त संचार में कमी कर देता है।

इसलिए इस स्थिति से बचने के लिए प्रतिदिन नेल-पॉलिश को बदलने का विचार मन से निकाल दें और नाखूनों को स्प्रिट मिले पानी से अच्छी तरह धोकर उन पर जैतून के तेल की मालिश करें।

आज आपने क्या जाना?

आज आपने जाना कि कैसे नाख़ून को साफ किया जाता है और साथ में ये भी जाना कि नाख़ून कि देखभाल कैसे करे। अगर आपको अपने नाख़ून के प्यार है तो आज का हमारा आर्टिकल आपके लिए काफी helpful रहा होगा। ऐसे ही जानकारी के लिए हमारे सुन्दरता केटेगरी को जरुर विजिट करें. धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें