आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरणा कहाँ से लाये ?

Posted on

अगर बात की जाए ब्लॉग बनाने की तो आज के समय में ब्लॉग बनाने के लिए प्रेरणा हमें किसी दूसरे successful ब्लॉग से मिलती है और उनसे जिन्होने blogging को अपना carrier बना लिया है. blogging करने के लिए ब्लॉग की ज़रूरत होती है, और हम प्रेरित होके अपना खुद का ब्लॉग बना लेते है.. पर सिर्फ़ ब्लॉग ही बनाना काफ़ी नही होता, अपने ब्लॉग पर आर्टिकल भी लिखने होते है.. अगर आप अपने ब्लॉग पर quality आर्टिकल लिखना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को ज़रूर पढ़े – ब्लॉग पर quality आर्टिकल कैसे लिखे ?

आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरणा कहा से लाये ?

जैसा की मैने कहा कि आज कल सभी लोग किसी दूसरे ब्लॉग से प्रेरित होकर ब्लॉग बना लेते है लेकिन जब ब्लॉग पर आर्टिकल लिखने की बात आती है तो हम लिख नही पाते है और यही सोचते रहते है कि किस टॉपिक पे पोस्ट लिखा जाए. ये सोच ही हमें ब्लॉग्गिंग करने से रोकती है और हम confuse हो जाते है कि अब क्या करे. हमें अपने पिछले आर्टिकल में आपको बताए थे कि एक ब्लॉग को बनाने के बाद क्या करना चाहिए, आप उस आर्टिकल को ज़रूर पढ़े ताकि आपको वो सभी basic idea मिल जाए जिसे फॉलो करके आप पर्फेक्ट्ली ब्लॉग्गिंग कर सको.

दोस्तों हर एक quality आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरणा और सब्र की ज़रूरत होती है ताकि हम अपने आर्टिकल कुछ ऐसे लिख सके की उसे पढ़ें वाले को अपने सभी सवालों के जवाब मिल जाए या फिर उन्हे मज़ा आ जाए.. आज हम अपने इस आर्टिकल में आपको बताएँगे कि कैसे एक अच्छा आर्टिकल लिखने के लिए inspiration लाए.. तो आइए जानते है..

आर्टिकल लिखने के लिए inspiration कहा से लाए ?

ये बहुत बड़ी बात है कि आपने किसी से प्रेरित होकर अपना ब्लॉग बनाया है और हम आपको सपोर्ट भी करते है. होता ये है कि ब्लॉग बनाने के बाद कुछ ऐसे points होते जिसे फॉलो करने के बाद आप खुद को आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरित कर सकते हो. और यही प्रेरणा हमें ब्लॉग्गिंग करते हुए मिलती है. और ऐसे ही कुछ टिप्स आज आप जानोगे जिसे फॉलो करने के बाद आप खुद को आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरित कर सकते हो..

ये भी जाने : अपने आपको ब्लॉग्गिंग करने के लिए कैसे मोटीवेट करे ?

1. गूगल सर्च करे

अगर आप किसी टॉपिक में आर्टिकल लिखना चाहते है और आपको पता नही है कि आप क्या लिखे तो सबसे पहले आपको गूगल सर्च पे अपने आर्टिकल से सम्बंधित जानकारी हासिल करनी होगी, जैसे-जैसे आपको उसके बारे में जानकारी मिलती जाएगी वैसे वैसे आप आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरित होते जाओगे.. आपको बस अपने आर्टिकल से सम्बंधित जितनी भी जानकारी है उसे हासिल करनी है और उसे अपने हिसाब से अपने आर्टिकल में लिखना है.

उदाहरण के लिए – अगर आप ब्लॉग्गिंग कैसे करे ? के बारे में लिखना चाहते है तो सबसे पहले आपको उससे सम्बंधित सभी जानकारी हासिल करनी होगी और जानकारी पाने के लिए गूगल सर्च से बेहतर और कोई नही.

नोट – आर्टिकल लिखने से पहले आपके माइंड में कुछ तो points होंगे जिसे आप describe करना चाहते होंगे.. उस point को clear करने के लिए आप इंटरनेट पर उसके बारे में सर्च करे, ताकि आपके सारे points clear हो जाए और आपको पता चल सके की आप जो आर्टिकल लिखने वाले हो वो दूसरे ब्लॉग पर उसके बारे में किस तरह के जानकारी मौजूद है, ताकि आप अपने आर्टिकल में वो सारी चीज़ो के बारे में discuss कर सके जो इंटरनेट पर मौजूद ही ना हो…

जरुर पढ़े : Blogging करना इतना आसान भी नही है

दूसरे के ब्लॉग पर लिखे हुए articles ही आपको प्रेरित करते है कि आप उनसे भी बेहतर लिख सकते हो, इसलिए जितना हो सकते अपने ज्ञान को बढ़ाने की कोसिस करे.

2. ज़्यादा सोचो नही

आज मुझे ये लिखना है और हम ऐसे चाहते तो है, पर कुछ लिख नही पाते. जितना सोचोगे उतना ही आपका समय सोचने में चला जाएगा, अगर जिस टॉपिक से रिलेटेड आपको आर्टिकल लिखनी है उसे directly आप लिखना शुरू करोगे तो थोड़ी बहुत mistake होगी ही पर आपका आर्टिकल complete हो जाएगा… और अपनी mistakes को सुधारने के लिए आप इंटरनेट की हेल्प ले सकते हो..

मेरा अनुभव – हमारे ब्लॉग पे आने वेल बहुत से विज़िटर्स को ये नही पता होगा की मैंने अपने ब्लॉग में blogging category 2017 में शुरू कि यानि कि blog बनने के 2 साल बाद..मेरा एक सपना था कि मैं जो ब्लॉग्गिंग करता हू और जो मैं सीखता हू उसे आप सभी लोगों के साथ share करने के लिए एक category बनाऊ जिसमें सिर्फ़ ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित जानकारी मिलेगी… पर में सिर्फ़ सोचता था, कभी ऐसा करने की कोसिस नही की… हमेसा सोचता था कि कल से ऐसा करुगा, कल ये करुगा लेकिन वो कल आने में एक साल लग गये और September 2017 में Blogging category बनाई..

ये भी जरुर पढ़े : अगर ब्लॉग्गिंग में सक्सेस पाना है तो खुद को सक्सेस्फुल ब्लॉगर समझो

दोस्तों ज़्यादा सोचने से सभी काम delay ही होते है, ज़्यादा सोचोगे तो सोचने में ही time spend हो जाएगा और आप कुछ कर भी नही पाओगे.. इसलिए अगर आपको कोई आर्टिकल लिखना है तो बस उसे लिख डालो, जैसा भी हो लिख लो.. बाद में edit तो कर ही सकते हो..

3. आपके ब्लॉग का टॉपिक क्या है

ये सबसे बड़ी confusion create करती है कि आपके ब्लॉग का टॉपिक क्या है, अगर आपने ऐसा ब्लॉग बनाया है जिसमें बहुत से टॉपिक से सम्बंधित जानकारी आप share करते हो तो आपके ब्लॉग में बहुत से अलग-अलग टॉपिक के आर्टिकल्स मौजूद होंगे, जैसे – हेल्त, लोवे, रीलेशन, मोटिवेशन, स्टोरी, पेरेंटिंग, ब्लॉग्गिंग etc etc… इतने सारे टॉपिक को एक साथ maintain करना बहुत मुस्किल होता है, और किस टॉपिक पर आर्टिकल लिखे ये सोच कर ही माइंड हमेसा टेन्षन मे रहता है..

ऐसे ब्लॉग कभी भी अपने सारे टॉपिक को अपडेट नही कर पाते, और as a result आपको किसी भी आर्टिकल को लिखने के लिए प्रेरणा नही मिलती..

कोसिस करे की अपने ब्लॉग में हमेसा एक ही टॉपिक से सम्बंधित आर्टिकल पब्लिश करे… जब आप ऐसा करोगे तो आपका माइंड automatic एक ही दिशा में सोचेगा, आपको कभी भी दूसरे टॉपिक को लेकर कोई टेन्षन नही होगी.

उदाहरण के लिए – अगर आपके ब्लॉग का main टॉपिक health है तो सिर्फ़ health से related ही आर्टिकल पब्लिश करे, ताकि आपका माइंड सिर्फ़ health से related thinking और जानकारी हासिल करने में व्यस्त रहे और आप अपने ब्लॉग पर हमेसा quality और unique आर्टिकल पब्लिश कर सको.. जो ब्लॉग particular टॉपिक से belong करता है उसका गूगल पेज rank भी बेहतर रहता है..

4. अपने ब्लॉग के कमेंट से प्रेरणा ले

अगर आपका ब्लॉग लोगों को पसंद आ रहे है तो आपके ब्लॉग पोस्ट पर लोग कमेंट ज़रूर करते होंगे.. बस आपको अपने ब्लॉग पोस्ट के कमेंट से प्रेरित होना है ताकि आप अपने आर्टिकल को और बेहतर और अच्छा बना सको.. कमेंट के ज़रिए ही हमें अपने नये आर्टिकल लिखने की प्रेरणा मिलती है, अगर किसी ने आपको commnet के ज़रिए कुछ पूछा है तो आप उसका जवाब अपने नये आर्टिकल पब्लिश करके दे सकते हो… इससे आपके और आपके ब्लॉग पर आने वाले विज़िटर्स के बीच में एक strong bonding बनेगी और आप हमेसा मोटीवेट और प्रेरित रहोगे.

जरुर जाने : ब्लॉग्गिंग को फुल टाइम करियर कैसे बनाए ?

ब्लॉग पर होने वाले कमेंट हमें ये बताती है कि हमारा ब्लॉग लोग पसंद करते है या नापसंद… वैसे तो कमेंट positive भी हो सकते है और negative भी, पर हमें दोनो कमेंट को एक साथ monitor करना होगा ताकि हमें पता चल सकते कि हमने जो आर्टिकल पब्लिश किया हुआ है वो लोगों को पसंद क्यों नहीं आ रही, और जिसे modify किया जा सके..

Positive कमेंट हमारी ब्लॉग्गिंग करने और आर्टिकल पब्लिश करने की एनर्जी को boost करने का काम करती है.. इसलिए हमेसा अपने कमेंट से प्रेरणा लो ताकि आपको अपने नये आर्टिकल लिखने की प्रेरणा मिल सके..

5. अपने फ्रेंड्स के साथ discuss करो

मुझे याद है जब मैने अपना पहला ब्लॉग बनाया था तो हमेसा कोई पोस्ट लिखने से पहले अपने friends circle में उसके बारे में discuss ज़रूर करता था. दोस्तों के साथ discuss करने के दौरान हमें ऐसे ऐसे points मिलते है जो रियल लाइफ से रिलेटेड होते थे, और जिसमें एक new idea भी मिलती है.

अपने ब्लॉग पोस्ट को लिखने से पहले आप अपने पोस्ट के बारे में अपने दोस्तों के साथ discuss कर सकते हो, ताकि आपको उनका point of view भी मिल सकते ताकि आप आर्टिकल लिखने के लिए प्रेरित हो जाओ.

जब दोस्तो का group बनता है तो बातो ही बातो में ऐसे points मिल ही जाते है जिसे किसी ने सोचा ही नही था, बस आपको ऐसे ही points तलास करने है और अपने दोस्तों को खुद को प्रेरित करने के लिए involve करना है.

दोस्तों इन सभी points को फॉलो करके आप आर्टिकल लिखने के लिए खुद को प्रेरित कर सकते हो.. बहुत से ब्लॉगर ऐसे भी होते है जो सिर्फ़ अपने दिल की सुनते है और उनका दिल जो कहता है वही लिखते जाते है, वैसे ही आप भी कर सकते हो क्योंकि ब्लॉग्गिंग अपने भावना, अनुभव, इंटेरेस्ट और अपने ज्ञान को share करने को ही कहा जाता है. अगर आप हमारे इस आर्टिकल से सहमत है तो ज़रूर कमेंट करे ताकि हम हमेसा प्रेरित और motivated रहे और आपके लिए हमेसा ऐसे ही बेहतरीन ब्लॉग्गिंग से सम्बंधित जानकारी ला सके. अगर आप अपना कोई real experience share करना चाहते है तो you most welcome.. HAPPY BLOGGING

Gravatar Image
मैं रवि साव acchibaat.com का फाउंडर हूँ. मैं यहाँ हर रोज आपके साथ अपने ज्ञान को साझा करता हूँ. धन्यवाद आप सभी का जिन्होंने acchibaat.com को इतना प्यार दिया. आशा करता हूँ कि यूँ ही आपका प्यार हमेशा बना रहे. अगर आपको हमारी ये आर्टिकल पसंद आई तो कमेंट करना न भूलें, आपका साथ ही हमारे प्रेरणा का श्रोत है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.