बच्चों की परवरिश कैसे करें ? – parenting tips in HINDI

अब आप हमसे directly बात कर सकते हो.. ज्यादा जानकारी के लिए निचे दिए गए contact बटन पर click करे.

बच्चों की परवरिश कैसे करें ? – parenting tips in HINDI
bacchon ki parwarish kaise kare ? in HINDI.. parenting tips in HINDI

बच्चों के घर में आने से खुशी का माहौल तो बनता ही है साथ ही responsibility भी बढ़ जाती है. सभी parents चाहते है कि उनका बच्चा healthy और self dependent बने . अच्छी परवरिश देकर ये सब हासिल किया जा सकता है .

अगर हम परवरिश की बात करें तो इसकी कोई परिभाषा या तरीका नहीं होता है . इसके लिए situation के मुताबिक समझ-बुझ की जरूरत होती है . क्योंकि हर बच्चे अलग-अलग है . सब पर एक ही नियम नहीं लागु हो सकता . सभी बच्चों कि परवरिश अलग तरह से होती है . कुछ बच्चे जहा प्यार (love) की भाषा समझते है तो कुछ शक्ति (power) की .

इसलिए अगर यह कहा जाए कि परवरिश का यह एक मात्र तरीका है तो ऐसा कहना गलत होगा . आपके घर के और आपके आसपास के माहौल को देकने के बाद ही परवरिश केसी करना है यह determine कर सकते है .

परवरिश का मतलब सिर्फ ये नहीं है कि बच्चे कि खाने-पिने और पहनने ओढ़ने की जरूरतों को पूरा करा जाए . बल्कि इसका मतलब यह है आप अपने बच्चे को कैसी आदत (habit) सिखा रहे है और कैसे संस्कार दे रहे है . तो आइये जानते है कुछ ऐसे parenting tips जो आपके बच्चो कि परवरिश में help कर सकता है .

सबसे पहले तो आप जान लें कि बच्चे कच्ची मिट्टी की तरह होते है . बचपन में वो जैसा देखते है वैसा ही सीखते है . सायद यही वजह है जिन family में झगड़ा ज्यादा होता है उनमे भी वही quality पाए जाते है . इसलिए यदि आप अपने बच्चे का future संवारना चाहते है और उन्हें अच्छा इन्सान बनाना चाहते है तो बचपन में ही उनकी सही परवरिश करें .

बच्चों को समय दे – Give children time

अगर आप बच्चों की परवरिश अच्छी तरह करना चाहते है तो सबसे पहला तरीका है कि उन्हें time दे . यदि आपके पास time ही नहीं होगा तो आप उनकी अच्छी परवरिश भला कैसे कर पाएंगे ? इसलिए अपने बच्चो के साथ time बिताए . दरअसल working parents के साथ अक्सर ये problem होती है कि उन्हें अपने बच्चो के साथ बिताने के लिए time नहीं मिल पाता है .

तो try करें की माता-पिता अपने weekend अपने बच्चों के लिए रखे . इसके अलावा normal दिनों में भी थोड़ा time निकाल ले . और जाने कि वो अपना time कैसे बिताते है और उनके friend कौन है .

खुद को दिलकश इन्सान बनाए कुछ लोगों के पड़ोसी ऐसे होते है जो पड़ोस के बच्चे को गलत शिक्षा देने की कोशिश करते है . वे उन्हें गलत habits सिखाते है , जैसे उलटे-सीधे गाने सिखाना , या फिर गाली देना सिखाना . बच्चो पर हर चीज का असर होता है . उन्हें किसी बात की समझ नहीं होती है , तो जो उन्हें दिलकश लगेगा वो उसी ओर खींचें जायेंगे .

इसलिए माता-पिता को बच्चों के लिए थोड़ा दिलकश बनना होगा .
इसी से बच्चे ज्यादा से ज्यादा time आपके साथ बिताना पसंद करेंगे . यदि आप आपके बच्चे के सामने दिलकश और खुश इन्सान की तरह रहते है तो आपका बच्चा किसी ओर कि तरफ attract नही होगा और हर चीज आपसे आकर ही पूछेगा .

इस article को पूरा पढ़ने के लिये Next Page पर जाये.

One Reply to “बच्चों की परवरिश कैसे करें ? – parenting tips in HINDI”

  1. Such A Great Article Sir. Its Help In many aspects of human family life.
    #विफलता का मतलब यह है की आपको पहले अच्छा करने का एक और मौका मिला है।”
    पैरेंट होने के नाते आपकी पहली जिम्मेदारी बच्चे को अच्छी शिक्षा देने के साथ सभ्य और संस्कारवान नागरिक बनाने की है।दरअसल आज के parents ने ही उनके दिमाग में भर दिया है कि परीक्षा में अच्छे नंबर नहीं आये तो जीवन में अच्छी सफलता नहीं मिलने वाली।??

    http://gyanbazar.blogspot.com/2017/05/Tips-for-parents-to-reduce-child-result-stress-and-fear-in-hindi.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *