क्या आप जुड़वा बच्चे चाहते हैं ?

अब आप हमसे directly बात कर सकते हो.. ज्यादा जानकारी के लिए निचे दिए गए contact बटन पर click करे.

माँ बनना हर महिला के लिए बेहद सुखद feeling होता है. अगर आपको जुड़वा बच्चें हैं तो ये आपकी खुशी को और दोगुना कर देती है. क्योंकि इससे आपको दो बार प्रसव पीड़ा (labor pain) से नहीं गुजरना पड़ता. हालांकि एक बच्चे की तुलना में अगर आपको जुड़वा बच्चे हो गए हैं, तो आपको उनकी परवरिश करने में थोड़ी मुश्किल जरूर होती है. लेकिन फिर भी आपको कई problems से राहत मिल जाती है. इसलिए अगर आप जुड़वा बच्चे चाहती हैं तो हम आपको इस article के जरिए बताएँगे कि कैसे कुछ उपायों जिनकी मदद से आप जुड़वा बच्चों की माँ बन सकती हैं.

कैसे बनते हैं जुड़वा बच्चे ?

जुड़वा बच्चे दो तरह के होते हैं एक-दुसरे से अलग दिखने वाले या बिलकुल एक से दिखने वाले. आपको बता दें कि जुड़वा बच्चों का निर्माण तब होता है जब एक egg से किसी sperm द्वारा fertilize किया जाता है, जिससे embryo का निर्माण होता है. इस तरह जन्म लेने वाले जुड़वा बच्चों की अनुवांशिक संरचना एक ही होती है. जबकि dizygotic जुड़वा बच्चे तब बनते हैं जब दो अलग sperm दो eggs को fertilize करते हैं जिससे दो अलग दिखने वाले बच्चे पैदा होते हैं. ऐसे बच्चों की अनुवांशिक संरचना भी अलग होती है.

महिला की उम्र रखती है मायने

माँ बनने और जुड़वा गर्भधारण की संभावना उम्र बढ़ने के साथ बढ़ती है. जो महिलाएं 35 साल की उम्र या उससे ऊपर हैं वो Follicle-stimulating hormone (FSH) का अधिक उत्पादन करती है. यह hormone ovaries को ovulation के लिए egg relies करने के तैयार करता है. Hormone का level जितना ज्यादा होगा, ovulation के दौरान egg उतने ही अधिक relies होंगे. इससे एक से अधिक गर्भ की संभावना होगी. अगर आप जुड़वा बच्चे conceive करना चाहती हैं तो उम्र के इस पड़ाव में गर्भधारण की कोशिश करें.

Dairy products का सेवन करें

जो महिलाएं dairy products का सेवन ज्यादा करती हैं उनको जुड़वा बच्चे होने की possibility बढ़ जाती है. कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि सिर्फ dairy products ही नहीं बल्कि दूध में available growth hormone भी जुड़वा बच्चों के होने में help कर सकते हैं.

Yam खाने से होगा फायदा

Yam यानि जिमीकंद खाने से अंडाशय में उत्तेजना होती है. जिससे ovulation के लिए एक से ज्यादा egg relies होता है. इस कारण से आपकी जुड़वा बच्चे conceive करने की possibility बढ़ जाती है. इसके अलावा protein की मात्रा से भरपूर आहार जैसे अनाज और सोया भी फायदेमंद होते हैं.

गर्भनिरोधक गोलियां नहीं खाएं

वैसे तो गर्भनिरोधक गोलियां pregnancy रोकने का काम करती है, लेकिन इनके सेवन से संभावना हिया कि आपको जुड़वा  बच्चे हों. दरअसल जब आप गोलियां खाना बंद करते हैं तो हो सकता है कि शुरुआत के किसी monthly cycle के दौरान body में विभिन्न प्रकार के hormonal changes आएं. जिसके चलते इन गोलियों को खाते हुए भी आपको दो गर्भ ठहरने की संभावना बढ़ जाती है.

पहली pregnancy के बाद समय लें

जुड़वा बच्चों के लिए अगर आप गर्भधारण की कोशिश कर रही हैं तो अपनी पहली pregnancy के बाद थोडा time लें. जल्दी-जल्दी किये गए गर्भधारण के कारण जुड़वा बच्चे होने की संभावना घट जाती है.

लेखिका : एकता अग्रवाल 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *