क्यों होती है खाँसी ? क्या है कारण ?

अब आप हमसे directly बात कर सकते हो.. ज्यादा जानकारी के लिए निचे दिए गए contact बटन पर click करे.

खाँसी होने के कारण

जिसे देखो वह इलाज के लिए दौड़ पड़ता है | लेकिन, क्या आपको पता है कि एक स्वस्थ इलाज तभी संभव है जब उसके पीछे के कारण को पता लगाया जा सके | यह बात हर बीमारी पर लागू होती है और खाँसी पर भी इसका शिकंजा लागू होता है | तो चलिए आज हम खाँसी होने के कुछ ख़ास कारणों को जानते हैं, जिन्हें अगर समाप्त कर दिया जाए तो अक्सर खाँसी होते रहने की समस्या से बचा जा सकता है |

क्यों होती है खाँसी ?

प्रदूषण          

हमारे शरीर में मौजूद फेफड़ा जब धूल, धुंए और प्रदूषण को झेल पाने में सक्षम नहीं रहता है तब खाँसी की समस्या उत्पन्न हो सकती है | इससे हमारे साँस लेने की नली में ये सभी चीजें अपनी जगह बना लेती हैं और आपको खाँसी हो सकती है |

मूत्र को रोकना

ज्यादा देर तक अपने शरीर में मूत्र को रोके रहने से भी खाँसी की समस्या उत्पन्न हो जाती है | इसलिए आप अपने मूत्र के वेग को न रोकें | इससे आपके साथ कई साडी और भी समस्याएँ भी हो सकती हैं |

सर्दी होना

सर्दी के वजह से भी खाँसी उत्पन्न होती है | अगर आपको ज्यादा दिन तक सर्दी रही आए तो आप खाँसी के शिकार हो सकते हैं | इसलिए अगर आप सर्दी से ग्रसित हैं तो इसे जल्द से जल्द ठीक होने की कोशिश करें |

फ्रिज का पानी

गले को ठंडक पहुँचाने के लिए हर कोई फ्रिज का पानी पीना पसंद करता है ;यकीन, यह गले को बहुत नुकसान पहुंचता है और आपको खाँसी भी हो सकती है | दरसल इसका सबसे ज्यादा इफ़ेक्ट आपके फेफड़े पर पड़ता है जिसके चलते आपको खाँसी की समस्या से जूझना पड़ सकता है |

कोशिश यही करे कि आप फ्रिज के ठन्डे पानी को पीने से बचें |

पानी पी लेना

मान लीजिये आप कही धूप से आए हैं और आते ही तुरंत आपने पानी पी लिया है तो इससे भी आको खाँसी की समस्या झेलना पड़ सकता है | इसलिए आप तेज धूप से या फिर तेजी से दौड़ कर आए तो  15 मिनट बाद ही पानी पियें |

धूम्रपान

सिगरेट फूंकने से न केवल खाँसी से जूझना पड़ेगा बल्कि इससे आपके शरीर पर भी बुरा असर होगा | इसलिए आप धूम्रपान करने की कोशिश न करें | इससे आपके फेफड़ों को भारी मात्रा में नुकसान होता है और फिर बाद में खाँसी, कैंसर, टीबी और भी कई घातक बीमारियों से जूझना पड़ता है |

लेखक : सार्थक उपाध्याय  [lyfcure.com]

4 Replies to “क्यों होती है खाँसी ? क्या है कारण ?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *