गर्भावस्था के दौरान होने वाले टेस्ट जी जानकारी

Pregnancy के दौरान खून की जाँच, urine की जाँच, 1-2 ultrasound, blood pressure regular check कराया जाता है. इससे माँ और बच्चे दोनो की health का पता चलता है. दो तरह के test होते है – normal test और screening test.

Pregnancy के दौरान होने वाले tests जी जानकारी

1. Pre-scan test

Pre-scan 6 से 12 हफ़्तो के बीच कराया जानेवाला एक ultrasound है. यह test तब किया जाता है, जब pregnant महिला को यह याद नही रहता की उसकी आखरी period कब आई थी . जिस महिला का abortion हुआ हो या pregnancy के बाद दर्द की शिकायत हो या bleeding हो रहा हो, तो भी यही test कराए जाए है. यह normal test है.

इसे भी पढ़े :Pregnant होने का सही समय क्या है ?

2. Anomaly scan

Anomaly scan को mid-pregnancy scan के नाम से भी जाना जाता है ये 18 से 20 हफ़्तो के बीच होता है. यह scan बच्चे की शारीरिक स्थिति स्पष्ट करता है की बच्चे के अंग ठीकठाक है या असामान्य. इसके साथ ही uterus और placenta की भी जाँच हो जाती है . इसी येस्ट से बच्चे के से-क्स को पहचाना जाता है ताकि पता चल सके कि गर्भ में लड़का है या लड़की, पर doctor इसकी जानकारी नही देते है.

3. Screening test

Screening test में nurture translucency 11 से 13 हफ्ते और maternal serum 15 से 18 हफ्ते के बीच कराया जाता है. इससे जन्मजात बीमारियो और chromosome की समस्या या neurons tube के दोष का पता चलता है.

जरुर पढ़े :जुड़वाँ बच्चे कैसे होते है ? जुड़वाँ बच्चे कैसे करे ?

4. Diagnostic test

Diagnostic test से बच्चे के chromosomal condition का पता चलता है. ये test करने से पहले अपने जीवनसाथी से विचार-विमर्श कर ले की अगर कोई दोष पता चलता है, तो क्या करेंगे ? आप उसे जन्म दे कर उसके पालन-पोषण की चुनौती स्वीकार करेंगे या abortion करना चाहेंगे ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.