अगर पीरियड न हो तो इससे किसी भी महिला को गर्भधारण कर पाना बहुत मुश्किल होगा। मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के पेट में हल्का-फुल्का पेट दर्द होता है। ये पेट दर्द कभी-कभी बहुत ज्यादा हो जाता है, जिसके लिए उपचार की तुरंत आवश्यकता होती है।  पीरियड्स में पेट दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमे से प्रमुख कारण है- माहवारी जल्दी आने की दवा का इस्तेमाल करना, कई गर्भ निरोधक गोलियों का इस्तेमाल करना इत्यादि। इन्हीं तकलीफों से बचने के लिए आज हम आपको periods me pet dard ka ilaj बताएंगे|

Periods में पेट दर्द का इलाज और घरेलू नुस्खे

1. हल्दी और दूध

एक पाव दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर पीने से पेट के दर्द को दूर किया जा सकता है। अगर दूध गुनगुना हो तो यह और भी कारगर होगा।

2. अदरक और शहद से निर्मित चाय पीएं

अदरक को बारीक टुकड़ों में काट लें और उसे पानी में उबालें जब पानी का रंग पूरी तरह से बदल जाए तब उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर मिश्रण को पी लें। दिन में ऐसा 4 से 5 बार करने से पीरियड्स में हो रहे पेट दर्द को दूर कर

3. गर्म पानी और सोंठ

गुनगुने पानी में सोंठ को मिलाकर पीने से भी पीरियड्स के दौरान होने वाले असहनीय दर्द को काबू में किया जा सकता है।

4. नींबू और सेंधा नमक

पानी को गुनगुना कर लें और उसमें एक नींबू निचोड़ लें और एक चम्मच सेंधा नमक डालें। अब मिश्रण को पी लें। इस घोल को दिन में तीन से चार बार उपयोग में लें। दर्द आसानी से खतम हो जाएगा।

5. सेब का सिरका और पानी

एक गिलास पानी को गर्म करें और उसमें २ चम्मच सेब का सिरका मिलाकर घोल को पी लें। इसे २ घंटे के अंतराल में 1 बार पीएं। इस घरेलू नुस्खे से आसानी से पीरियड्स में पेट दर्द का इलाज किया जा सकता है।

6. गर्म पानी पीएं

शरीर का तापमान और हार्मोनल बदलाव को सही करने के लिए आप अपने नियमित खुराक में गर्म पानी का सेवन करना शुरू कर दे। इससे पेट की असहनीय पीड़ा को आसानी से दूर किया जा सकता है।

7. गर्म पानी से करें सिंकाई

पानी को गुनगुना कर लें और उसकी पोटली बनाकर अपने पेट के नीचे के हिस्से की सिंकाई करें। ऐसा कुछ देर तक लगातार करने से पीरियड्स के दौरान होने वाला पेट दर्द सही हो जाता है। दरअसल इस तकनीक से  ovule में हो रही हलचल शांत हो जाती है और पेट दर्द की समस्या ठीक हो जाती है। इसके अलावा भी आप गर्म पानी का सेवन करें यह पीरियड्स में पेट दर्द का इलाज करने के साथ आपके शरीर को और भी कई फायदे देता है।

8. शरीर का तापमान बढ़ाने से होगा

पीरियड्स के दौरान शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। ये हार्मोनल बदलाव आपके शरीर के तापमान में गिरावट का कारण बनते हैं और इससे आपको पेट दर्द की समस्या हो जाती है। शरीर का तापमान बढाने के लिए आप गर्म पानी से नहाएं। तापमान बढ़ाने के लिए आप अपने आहार में उच्च कैलोरी वाले आहार को शामिल करें। उच्च कैलोरी आहार में अंडे का सेवन करना आपके लिए उचित रहेगा।

9. वजन दुरुस्त करें

वजन का ज्यादा बढ़ जाने की वजह से भी पीरियड्स के दौरान पेट में दर्द हो सकता है। अकसर देखा जाता है जो लकड़ियां ज्यादा वजन की होती है उन्हें पीरियड्स के दौरान काफी ज्यादा पेट दर्द का सामना करना पड़ता है। इसलिए अगर आपका भी वजन बढ़ा हुआ है तो इसे कम करने की कोशिश करें। वजन कम करने के लिए आप अपने डाइट चार्ट को सही करें और उसमें खान-पान का विशेष ध्यान रखें। पीरियड्स में पेट दर्द का इलाज करने से के लिए यह बढ़िया नुस्खा है।

10. एक्सरसाइज करें

एक्सरसाइज से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन तेजी से होता है और यह पेट में दर्द को कम करने में मददगार होता है। अगर आप थकी हुई महसूस कर रही हैं तो एक्सरसाइज न करें। इससे भी आपको पीरियड्स के दौरान होने वाले असहनीय दर्द से छुटकारा मिलेगा।

11. पेट की हल्की मालिश करें

पेट के ऊपरी हिस्से को हलके हाथों से सहलाने से और उसका मसाज करने से आपके पेट के दर्द को ठीक किया जा सकता है। पेट की मालिश करने के लिए आप जैतून के तेल को हल्का गर्म कर लें और उसके बाद आप हलके गर्म तेल से पेट की मालिश करें।

12. स्वस्थ आहार

अपने आहार में आप सभी पोषक तत्वों को शामिल करें जिससे आपके शरीर को उन सभी पोषक तत्वों की प्राप्ति हो सके जो आपके शरीर के लिए आवश्यक है। इसके साथ आप यह भी ध्यान रखें की आपका आहार स्वस्थ हो अर्थात आहार सादा और उपयोगी हो। आहार के सादे होने से मतलब यह है की आहार में तेल मसाला, आदि का इस्तेमाल बिलकुल न हो। इसके साथ यह भी ध्यान देना उचित होगा की आहार में जंक फूड्स शामिल न करें।

13. पीरियड्स के दौरान पेट दर्द का नेचुरोपैथी इलाज 

सूर्य के धूप में संतरे रंग वाली बोतल के पानी को भरकर रख दें और शाम होने पर उस बोतल के पानी को घूँट-घूँट कर के पीएं। इससे भी पीरियड्स में पेट दर्द का इलाज आसानी से कर सकते हैं।

14. ग्रीन टी

ग्रीन टी एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। एंटी-ऑक्सीडेंट पेट में पल रहे बैक्टीरिया को आसानी से नष्ट कर सकता है। इसलिए आप पेट में दर्द के दौरान ग्रीन टी को इस्तेमाल करना उचित होगा।