जवानी में चेहरे पर मुंहासे होना आम बात होती है।ऐसा जवानी में शरीर में होने वाले hormonal बदलाव के कारण होता है, इसलिए एक समय के बाद मुंहासे तो ठीक हो जाते हैं लेकिन उनके निशान लंबे समय तक रहते हैं, जो आपकी जवानी की खूबसूरती को खराब करते हैं। अगर आप भी मुंहासों के दाग से परेशान हैं तो आज जो मैं घरेलू उपचार आपको बता रहा हूं ये आपकी मदद कर सकते हैं।

चेहरे के दाग धब्बे कैसे हटाये?

1. एलो वेरा और नींबू: 2 चम्मच aloe vera के रस में आधा चम्मच नींबू का रस मिलाकर 5 मिनट के लिये रखें। फिर इसे चेहरे पर लगायें और 15-20 मिनट बाद धो लें। ऐसा दिन में रोजाना एक बार करने से मुंहासों के काले धब्बे (black heads) खत्म होने लगते हैं और चेहरा साफ हो जाता है।

2. गुलाबजल और नींबू: नींबू का रस मुंहासों के दाग के लिए कमाल की दावा है। एक चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच गुलाब जल (rose water) मिला लीजिए। इसे मुंहासों पर लगाकर 15 मिनट के लिये छोड़ दीजिए और फिर पानी से अच्छी तरह धो लीजिए। इसे रोजाना दिन में एक बार करना चाहिये। इससे मुंहासों के दाग जल्दी ही ठीक हो जाते हैं।

3. प्याज का रस: प्याज में प्राकृतिक एंटीबायोटिक गुण होता है जो कि मुंहासों के दाग धब्बे दूर करने में मदद करता है। इसके लिए रोजाना आधा प्याज का रस निकालकर रुई की मदद से चेहरे पर दाग-धब्बे वाली जगह पर लगायें और 15 मिनट बाद चेहरा सादे पानी से धोएं। रोजाना दिन में एक बार ऐसा करने से मुंहासों के दाग-धब्बे जल्दी ही दूर होते हैं।

4. शहद और दालचीनी: दो बड़े चम्मच शहद लीजिए। इसमें एक छोटा चम्मच पिसी हुई दालचीनी अच्छी तरह मिला लीजिए। इसे मुंहासों के दाग पर लगाकर आधा घंटे के लिए छोड़ दीजिए और फिर पानी से धो लीजिए। ऐसे रोजाना कुछ दिनों तक करने से मुंहासों के दाग ठीक हो जाते हैं।

5. हल्दी पाउडर: एक चुटकी हल्दी पाउडर में कुछ बूंदे नींबू के रस को मिलाकर मुंहासों के दाग पर या पूरे चेहरे पर लगायें। कुछ ही हफ्तों के अंदर दाग दूर हो जायेंगे और त्वचा चमकने लगेगी।

6. Oats Pack: मुंहासों के निशान से छुटकारा पाने के लिए oats के आटे का बना face pack भी एक अच्छा घरेलू उपचार है। 2 चम्मच oats के आटे में 3 चम्मच नींबू का रस मिलाए और उबटन की तरह चेहरे पर लगायें। कुछ देर तक इसे चेहरे पर मलें फिर गर्म पानी से धो लें। यह face pack हफ्ते में दो बार इस्तेमाल करना चाहिए।

7. हल्दी-पुदीना pack: हल्दी पाउडर में जरूरत के अनुसार पुदीने का रस मिलाकर गाढ़ा paste बना लीजिए। इस face pack को मुंहासों के दाग पर लगाकर करीब 20 मिनट के लिये छोड़ दीजिए और फिर हल्के गर्म पानी से धो लीजिए। इसे रोजाना एक बार लगाने से जल्दी ही मुंहासों के दाग ठीक हो जाते हैं।

चेहरे के दाग मिटाने के 4 घरेलू उपाय

आप इन उपायों को अपनाकर चेहरे की त्वचा (face skin) को खूबसूरत बना सकती हैं।

1. रात को को जायफल को दूध में मिलाकर चेहरे पर लगाए। कुछ दिन नियमित लगाने से मुंहासे दूर हो जायेंगे और दाग भी मिट जायेंगे।

2. एक अंडे (egg) में दो चम्मच बेसन, एक चम्मच शहद (honey), एक चम्मच ग्लिसरीन, एक चम्मच खीरे का रस तथा चार-पांच बूंद नींबू के रस को मिलाकर चेहरे पर लगाए। सूखने पर थोड़े से दूध में स्पंज भिंगो कर pack उतार दें, फिर ठंडे पानी से मुंह धो ले। इससे चेहरे की झुर्रियां (wrinkles) मिटेगी और चेहरा बेदाग, फूल सा कोमल लगने लगेगा।

4. चावल का आटा दूध में भिंगो कर उसे 10 मिनट तक चेहरे पर मलें। यह facial grain का काम करेगा और चेहरे के black and white heads निकल जायेंगे। चेहरा कोमल हो उठेगा और रंग भी निखरेगा।

5. समुद्री फेन को दूध में पीसकर चेहरे पर रात के समय लगा ले। सुबह साफ पानी से चेहरा धो डालें। चेहरे के धब्बे मिट जाते हैं।

मुंहासों के कारण होने वाले दाग को कैसे मिटाएं?

किशोरावस्था में आते-आते अधिकांश लड़कियों की समस्या होती है – मुंहासे। मुंहासे युवावस्था की निशानी है क्योंकि इस समय शरीर में hormones के स्तर में बदलाव होता है। पर कई बार ये मुंहासे एक उम्र के बाद खत्म हो जाते हैं, पर चेहरे पर अपनी छाप छोड़ जाते हैं। ऐसे में लड़कियों के मन में एक हीनभावना आ जाती है और वे लोगों से खासकर लड़कों से कटने लगती है।

हालांकि इस समय बाजार में इन मुंहासों के लिए एक से बढ़कर एक lotion मौजूद हैं। पर इनसे मुंहासों के दाग नहीं निकलते हैं। इसके लिए cosmetic surgery की जाती है। यह cosmetic surgery क्या है और इसे कैसे किया जाता है, यहाँ इसकी जानकारी दी जा रही है।

मुंहासों का कारण?

हमारी त्वचा में sebaceous gland होती है। विभिन्न कारणों से तैलीय ग्रंथियों (oil gland) की नालियां सिकुड़ कर बंद हो जाती है जिससे इनसे निकलने वाला तरल पदार्थ अंदर रह जाता है तथा ग्रंथियां आकार में फूलने लगती है। उसके बाद bacteria उत्पन्न होकर उसमें संक्रमण उत्पन्न कर देते हैं। इसी प्रकार मुंहासों का निर्माण होता है।

सामान्यत: किशोरावस्था में मुंहासे ज्यादा होते हैं। इसका मुख्य कारण उस उम्र में होने वाले hormones के स्तर में परिवर्तन होना है। कुछ महीनों अथवा कुछ वर्षों के बाद hormones के संतुलित होने पर मुंहासों का होना बंद अथवा कम हो जाता है। हालांकि hormones की इस प्रक्रिया को नियंत्रण करने के प्रयास किए गए है, जैसे किशोरियों को पुरुष hormones देना आदि। परन्तु कोई विशेष उत्साहवर्द्धक परिणाम नहीं निकले। वास्तव में hormones के उत्पन्न एवं परिवर्तन की प्रक्रिया जटिल है तथा अनावश्यक हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

इलाज – Remedies

इनके उत्पन्न होने पर सबसे पहले antibiotic खाए तथा cream दी जाती है, जिससे संक्रमण को नियंत्रण में लाया जा सके। संक्रमण के नियंत्रण में आने पर शरीर की प्रतिरोधक क्षमता का निराकरण करने का प्रयास करती है। कई बार लड़कियाँ मुंहासे फोड़ कर मवाद बाहर निकालने की कोशिश करती है। यह ठीक नहीं है। इससे चेहरे पर भद्दे दाग उत्पन्न हो जाते हैं, जिनका मिटना असंभव सा हो जाता है। तब cosmetic surgery कराने के अलावा कोई चारा नहीं रह जाता है।

मुंहासे और आहार –

ईमानदारी से कहा जाए तो अभी इनमें कोई निश्चित संबंध नहीं स्थापित हुआ है। वैसे ग्रंथियों में तेलिया पदार्थ उत्पन्न होने का कारण ज्यादातर चिकित्सक तैलीय पदार्थ अथवा ज्यादा चर्बीयुक्त पदार्थ (तली हुई चीजें, ice-cream आदि) खाने से माना करते हैं। परन्तु वैज्ञानिक दृष्टिकोण से इसका साबित नहीं हो पाया है।

मुंहासों की cosmetic surgery

मुंहासों की नहीं परन्तु उनके दागों की cosmetic surgery की जा सकती है। मुंहासों की उपस्थिति में cosmetic surgery के प्रयास से संक्रमण होने का भय रहता है। अत: जब चेहरे के मुंहासे सूखे हों तो face peeling द्वारा उनके दागों का इलाज किया जाता है। मुंहासे लगातार बारह महीने नहीं रहते। वह उत्पन्न होते हैं, सुख जाते हैं तथा पुन: उत्पन्न हो जाते हैं। अत: cosmetic surgery अथवा face peeling की जा सकती है।

Face peeling से जहाँ skin समतल हो जाती है, वहीँ तैलीय ग्रंथियां के बंद छिद्र भी खुल जाते हैं। अत: मुंहासों का पुन: उत्पन्न होना कम हो जाता है। हालांकि कोई निश्चित गारंटी नहीं दी जा सकती है।

Face peeling क्या है? What is face peeling?

इस प्रक्रिया में त्वचा की ऊपरी परत को छीलकर समतल किया जाता है। जिससे असमतल त्वचा सपाट होकर सुन्दर नजर आती है। अगर गड्ढे ज्यादा गहरे हों तो यही प्रक्रिया दो-तीन बार दोहरानी पड़ सकती है। त्वचा के समतल होने पर दाग स्थायी रूप से हल्के अथवा मिट जाते हैं। देखा गया है कि एक बार की प्रक्रिया लगभग 50% सुधार हो जाता है। अगर गड्ढे हल्के हो तो सुधार 90-95% तक भी हो सकता है।

सावधानियां – Precautions

  • Face peeling के बाद चेहरे को 6 महीने तक धुप से अवश्य बचाना चाहिए।
  • अगर बाहर निकलना आवश्यक हो तो car, bus, three wheeler अथवा rickshaw में जाना चाहिए।
  • छाते से धुप को बचाव करना चाहिए तथा sun-cream का प्रयोग करना चाहिए।
  • इसमें भी face मीलिंग की प्रक्रिया अपनाई जाती है।
  • चेचक (chicken pox) सदैव के लिए समाप्त हो गयी परंतु उसकी निशानी अभी भी लाखों चेहरे पर मौजूद है।
  • Face peeling द्वारा चेचक के दागों को स्थायी रूप से मिटाया जा सकता है।

दाग एक बार में मिट जाते हैं?

मुंहासे की तरह इनका मिटना भी इस बात पर निर्भर करता है कि दाग कितने गहरे हैं। ज्यादा गहरे दाग होने पर इस प्रक्रिया को दो-दो बार दोहराना पड़ता है।

Face peeling कितने देर का काम है?

Operation में आधे से एक घंटे लगते है। अगर area कम हो तो व्यक्ति तुरंत घर जा सकता है। अगर पूरे चेहरे की peeling करनी हो उसी दिन शाम तक अधिकांश व्यक्तियों को छुट्टी दे दी जाती है। एक सप्ताह तक चेहरे पर काले रंग की पपड़ी जम जाती है। जो एक सप्ताह बाद गिर जाती है। तब नीचे से गुलाबी रंग की स्निग्ध त्वचा प्रकट होती है। जो तीन हफ़्तों में हलकी पड़ जाती है। तीन महीने में त्वचा पूर्व रंग प्राप्त कर लेती है।

आज आपने क्या जाना?

आज अपने जाना कि चेहरे के दाग-धब्बे कैसे मिटाए और साथ में ये भी जाना कि मुंहासे से होने वाले दाग को कैसे हटाया जाये। हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे बताये गए उपायों को अपनाकर आप अपने चेहरे के दाग-धब्बों से छुटकारा पा लोगे। अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरुर share करे। धन्यवाद