महिलाओं के रूप, सुंदरता और सौंदर्य को उजागर करने वाला उनका dress ही होता है। किस समय या किस अवसर पर कैसा dress धारण करना है इसका चुनाव करना ही एक कला है। हर एक स्त्री को अपने type के मुताबिक कपड़े पहनना चाहिए। यह जरूरी नहीं कि dress कीमती हो।

स्त्री चाहे कितनी भी सुन्दर क्यों न हो dress के रंग का महत्व भी बहुत अधिक होता है। कपड़े को पहनना भी एक कला है (ladki kaise kapde pahne)। ठीक-ढंग से पहना हुआ dress न केवल पहनने वाली स्त्री के मन को खुश और आत्मविश्वास से भर देता है, बल्कि आस पास के लोगों पर भी उसका भरपूर प्रभाव पड़ता है।

सुन्दर दिखने के लिए कैसे कपड़े पहने?

सुन्दर dress स्त्री का एक महत्वपूर्ण और कीमती हथियार है। मौसम के बदलने के साथ ही dress भी बदल जाते हैं। उदाहरण के लिए – गर्मियों का मौसम पूरा शादियों का या बाहर सैर-सपाटे का होता है, इसलिए लहंगा-चोली, बनारसी साड़ी का ही दौर रहता है जबकि बरसात के मौसम में synthetic साड़ी ही अधिक पहनी जाती हैं। ये पहनने में आसान भी होता है। ये घर में आसानी से धोया भी जा सकती है और सूखती भी जल्दी है। लेकिन स्त्रियां इस मौसम में polyester plain या print पहनना ज्यादा पसंद करती हैं।

कामकाजी लड़कियाँ जिनका height लंबा और बदन छरहरा हो उन पर plain साड़ी और उससे मेल blouse जांचता है। नाटे कद की कामकाजी महिलाएं plain से medium color या medium dark color की साड़ियाँ पहनने में उचित रहेगा।

जिन office में जहाँ केवल स्त्रियां ही कार्य करती है, वहां bright dress, खुले गले या बिना बाँहों का blouse पहनकर जाया जा सकता है। लेकिन जहाँ पुरुष भी कार्य करते हो वहां अंगो को ढकने वाला dress पहनकर जाना चाहिए। जो शालीनता और सम्मान दिलाने को पर्याप्त हो।

अगर आपका शरीर पतला है तो आप कुछ भी पहन सकती हैं, लेकिन आप मोटी होने के साथ बेडोल भी हों तो ढीलाढाला dress ही आपके लिए उपयुक्त रहेगा। भूलकर भी पतली या शरीर से चिपकी जाने वाली साड़ी बाँधकर न जाएँ। chiffon या Georgette साड़ी से तो मोटापा और भी दिखाई पड़ेगा।

कामकाजी स्त्रियों के लिए सूट अधिक उपयोगी रहता है। आपका height छोटा है तो बड़ी धारियों वाले design की कमीज़ और सलवार पहने। इससे आपका height लंबा प्रदर्शित होने लगेगा।

आप दुबली-पतली हैं, तो गहरे रंग का dress पहने इससे आपका शरीर भरा-पूरा लगेगा। अगर आपका पेट कुछ बड़ा हुआ है तो tight dress न पहने। साड़ी बांधती हो तो उसे नाभि के ऊपर ही बांधे।

NOTE –

शरीर पर धारण किया जाने वाला dress हल्का होना चाहिए ताकि शरीर को fresh air लगती रहे, जब की भारी dress शरीर पर एक बोझ मालूम होता है। Dress जहाँ शरीर की कुरूपता को छिपाती है वहीँ शरीर की रक्षा भी करता है और सजाता भी है।

छाती को ढकने के लिए सौंदर्य की दृष्टि से चिपका रहन हानिकारक होता है। इसलिए ढीला dress ही स्वास्थ्य की दृष्टि से हितकारी होता है। Bra इतनी कसा हुई नहीं होनी चाहिए कि blood-circulation ही थम जाए। इसी प्रकार blouse भी बहुत ज्यादा कसा नहीं होना चाहिए।

गर्भवती स्त्री (pregnant lady) को तो तंग dress कभी नहीं पहनना चाहिए। हमारे देश में स्त्रियों के लिए साड़ी का पहनावा सुंदरता और स्वास्थ्य की दृष्टि से उत्तम माना जाता है।

साड़ी हलकी-फुल्की होने से तथा शरीर पर ढीली-ढाली बांधी जाने से शरीर के समस्त अंगों को fresh air और शीतलता मिलती है जो स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होता है क्योंकि यह साड़ी को संभाले भी रहता है और अंगों को ढंकता भी है।