हस्तमैथुन की लत क्यों पड़ती है और इसके क्या-क्या दुष्परिणाम होते हैं ? – Why do masturbation become addictive and what are its side effects ? In HINDI

हस्तमैथुन की लत क्यों पड़ती है और इसके क्या-क्या दुष्परिणाम होते हैं ? – Why do masturbation become addictive and what are its side effects ? In HINDI
Full conscious situation में जब पुरुष जान-बुझकर अपने हाथ से शिश्न (penis) को erect कर घर्षण करके वीर्य (sperm) को निकाल देता है, इस क्रिया को हस्तमैथुन या फिर masturbation कहते हैं. इसे medical science में masturbation के नाम से जाना जाता है.

हालाकि हस्तमैथुन करने से nerves excite हो जाते हैं, जिससे चरमसुख की feeling होती है, इसलिए पुरुष कुछ पल की खुशी के लिए इस क्रिया को बार-बार दोहराने लगता है.

हस्तमैथुन की लत क्यों पड़ती है और इसके क्या-क्या दुष्परिणाम होते हैं ?

हस्तमैथुन की लत कई कारणों से पड़ती है, उनमे अश्लील साहित्य पढना, ब्लू फिल्म देखना, स्त्री-पुरुष और पशुओं की संभोग क्रिया देखना, आँतों में कृमि होना, शिश्न पर जमे मेल से खुजली होना, खुजलाने की प्रक्रिया से शिश्न का मालिस होने से अनायास ही उसमे तनाव आने से हस्तमैथुन की इच्छा जागना प्रमुख होता है.

पुरुषों की भाती महिलाओं में भी इस बुरी लत के जरिए कई प्रकार के disorder और हानियां पैदा होती है. इस process से योनी की रगड़ सहने की शक्ति अत्यधिक बढ़ जाने के कारण विवाह के बाद संभोग से पूरी तृप्ति नहीं मिलती.

इसके अलावा, पुरुष से सामान्य संभोग में disgust, leucorrhoea, mental और neurological रोग भी पैदा हो सकते हैं, जो married life को कष्टप्रद बना देती है.

नियमित हस्तमैथुन करते रहने से आँखों की ज्योति में कमजोरी आ जाती है, चेहरा की brightness खो जाती है, आँखें गड्ढे में चली जाती है, नपुंसकता, स्वपंदोश, शिश्न का छोटा, पतला, शिथिल पड़ना, mental stress , suicide करने की प्रबल इच्छा, शीघ्रपतन, हमेसा सोए रहने का मन होना, लड़कियों और स्त्रियों से बातें करने की हिम्मत न होना, हाथों और पैरों के तनाव में अत्यधिक पसीना आना जैसी तकलीफे भी होने लगती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *