बुरा महसूस होने पर क्या करे? 10+ उपाय और कारण

बुरा महसूस होने पर क्या करे? Bura lagne par kya kare? दोस्तों हम इंसान है और हम में बहुत तरह के भावनाएं होती है और उन भावनाओं में से एक है bad feeling मतलब बुरा महसूस करना। अगर देखा जाए तो बुरा महसूस करना ज्यादा खतरनाक नहीं होता है ये हमे अपने जिम्मेदारियों और अपनी गलतियों के बारे में बताता है।

जो लोग बुरी सोच के बारे में बस सोचते ही रहते है वो लोग दुख में जकड़ जाते है या डिप्रेशन में चले जाते है।

अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है और आप इससे निकलना चाहते है तो हम आपको बताएँगे कि बुरा महसूस होने पर कैसे छुटकारा पाया जाए?

हम बुरा महसूस क्यों करते है?

बुरा अनुभव से बाहर निकलने से पहले आपको ये समझना होगा कि हम बुरा महसूस क्यों करते है? बुरा अनुभव के भी कुछ प्रकार होते है जो आपको पहले समझना चाहिए। नीचे हमने बता रखा है, इन्हें पढ़े और समझे।

1. दुखी होने के कारण

आप दुखी किसी भी वजह से हो सकते हो जैसे कि – किसी की बात से, डांट से, किसी के खो जाने से, काम के डर से, किसी के विश्वास घात से, उलझन की वजह से, चिंता करने की वजह से और ज्यादा आराम करने की वजह से।

जब दुख आता है तब ये आप पर निर्भर करता है कि आपने दुख को किस तरह से लेना है।

अगर आप अपने दुख को कम करने की कोशिश करोगे तो हो सकता है कि आप अपने दुख को खत्म कर दो लेकिन अगर आप अपने दुख के बारे में बस सोचते रहोगे तो ये दुख आगे जाकर आप पर हावी हो जाता है।

इसे भी पढ़ें- जिंदगी में सही फैसला (Decision) कैसे ले? फैसला कैसे ले?

2. हानि होने के कारण

हानि होने से हमारा मतलब है कि किसी चीज का खो जाना, बहुत बड़ा नुक्सान हो जाना, job का खो जाना या रिश्ता खत्म हो जाना। जब आपकी हानि होती है तो आप अपने आप दुख में चले जाते हो।

दुख आपको मानसिक और शारीरिक रूप से परेशान करता है।

3. डिप्रेशन के कारण

जैसा की हमने आपको ऊपर भी बताया था कि अगर आप अपने दुख के बारे में बस सोचते ही रहोगे तो आपका दुख धीरे-धीरे बढ़ता जाता है जो आगे जाकर डिप्रेशन में तब्दील हो जाता है।

यकीन मानिये डिप्रेशन से निकलना बहुत ज्यादा मुश्किल है क्योंकि डिप्रेशन आपके दिमाग पर सीधा वार करता है।

डिप्रेशन की हालत में आपको कुछ भी अच्छा नहीं लगता है ना तो आप ढंग से खाते हो, ना आप किसी से मिलते हो और ना ही आप बात करते हो।

अगर आपको लगता है कि आप भी शायद डिप्रेशन का शिकार है तो आपको किसी अच्छे मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर डॉक्टर से सहायता लेनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें- अपने Emotion को Control करने के 8 तरीके

4. Seasonal Affective Disorder के कारण

वैसे ये disorder बहुत कम लोगो को पता होगा। Seasonal Affective Disorder एक तरह का डिप्रेशन होता है जो मौसम के बदलने के कारण होता है। ये disorder कम धुप लेने के कारण या winter months में होता है।

इस बीमारी के कारण आपके शरीर में बदलाव होने शुरू हो जाते है जैसे कि- आप में कम ताकत होना, भूख का ज्यादा लगना, ध्यान भटकना, अकेले रहना पसंद होना, ज्यादा तनाव लेना और वजन का बढ़ना।

ये ऐसी बीमारी होती है जिसके बारे में लोगो को पता ही नहीं चलता है और वो अपने आप डिप्रेशन, चिंता, डर, दुख को महसूस करते है।

बुरे अनुभव से कैसे छुटकारा पाए?

अब बात करते है कि बुरा महसूस होने पर इससे कैसे निकला जाए। नीचे हमने बहुत से तरीके बताए है जो 100% आपके काम आयेंगे। तो दोस्तों इन तरीकों को पढ़े और और इनका पालन करे।

1. अपना दुख किसी से Share करे

सभी के लिए अपना दुख share करना बहुत आसान है लेकिन अगर आप अपने दुख से राहत चाहते है तो आपको किसी ऐसे को अपना दुख बताना चाहिए जो आपको बाद में मदद कर सके।

ज्यादातर क्या होता है कि जब आप किसी को अपनी दुखभरी दास्तान सुनाते हो तो बाद में वो भी अपनी दुखभरी शुरू कर देता है। ऐसे में आप और ज्यादा negativity में आ जाते हो।

अगर आपका group circle supporting वाला नहीं है तो आपको अपना circle change कर देना चाहिए और कोई ऐसा friend circle join करे जो happy, positivity और motivational हो।

2. Solution को Solve करे

दूसरा रास्ता आपके पास ये है कि आप जिस कारण से दुख में है उस कारण को आप solve करे। आप यकीन नहीं मानोगे कि पूरी दुनिया में 38% लोग ऐसे है जो अपनी स्तिथि को आसानी से handle कर पाते है नहीं तो बाकी सभी लोग बस दुख के बारे में सोचते ही रहते है।

3. हो सके तो रोये

हाँ आप ये सोच रहे होंगे कि यार अब रोने वाली बात कहा से आ गई। दोस्तों हम बताते है कि दुख दूर करने के लिए रोना क्यों सही है? कुछ studies से पता चला है कि रोने से आप बाद में अच्छा महसूस करते हो।

रोने से Parasympathetic nervous system activate होता है जो आपको stress और tension से recover करता है और आपको happy महसूस करवाता है।

कुछ दुख ऐसे होते है जिसका कुछ solution नहीं होता बस आपको वो दुख सहना ही होता है ऐसी स्तिथि में आपको रोना चाहिए।

4. अपना ख्याल रखे

अगर आपका स्वास्थ्य अच्छा है तो आप किसी भी चिंता और तनाव को आसानी से handle कर सकते हो पर अगर आप स्वास्थ्य में गरीब हो तो ये चीजें आपको जल्दी पकड़ती है।

अपने दुख को कम करने के लिए आपको अपने lifestyle में बहुत बदलाव करने होंगे।

जैसे कि, समय खाए, पूरी नींद ले, ज्यादा पानी पीये, रोजाना सुबह व्यायाम करे, योगा करे, ध्यान करे, अच्छे लोगो के साथ रहे, खुश रहने की कोशिश करे और स्वस्थ आहार को अपनाये।

5. संगीत सुने

जब आप तनाव और चिंता में होते हो तो आपके दिमाग में हजारों चीजें चल रही होती है जो आपको और उलझनों में डाल देती है। एसी स्तिथि में आपको संगीत सुनना चाहिए।

संगीत सुनने से music की ray आपके दिमाग की तरंगों को relax करती है। आजकल YouTube में दुनिया भर के mind relaxation के गाने मौजूद है। आप एक बार ये वाला तरीका आजमा कर देख सकते है।

अगर आपको seo friendly article लिखवाना हो, वेबसाइट बनवाना हो, अपने ब्लॉग का setup करवाना हो तो हमसे whatsapp के जरिये संपर्क करें. हमारा whatsapp नंबर है-
9583450866